Home » मध्य प्रदेश » Madhya Pradesh: Farmer commits suicide in Sagar District, Death toll rises 16
 

MP: कर्ज़ में दबे किसान ने की ख़ुदकुशी, 6 जून के बाद 16वीं आत्महत्या

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 June 2017, 10:45 IST
कैच न्यूज़

मध्य प्रदेश में किसानों की ख़ुदकुशी का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है. अब सागर ज़िले में कर्ज़ के बोझ तले दबे एक किसान ने ख़ुदकुशी कर ली है. ख़ुदकुशी से पहले लिखे गए सुसाइ[ नोट में उन्होंने साहूकार पर परेशान करने का आरोप लगाया है.

मध्यप्रदेश में 6 जून को हुए किसान आंदोलन के बाद से हर दिन एक किसान ख़ुदकुशी कर रहा है. अभी तक कुल 16 किसान कीटनाशक पीकर या फिर फांसी लगाकर अपनी ज़िंदगी ख़त्म कर चुके हैं. सागर ज़िले में ख़ुदकुशी करने वाले किसान की उम्र तकरीबन 50 साल थी.

राज्य में किसानों का मुद्दा लगातार गरमाता जा रहा है. इसकी गंभीरता को भांपते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उपवास रखकर किसानों से मुलाक़ात की थी. साथ ही वह मंदसौर के बड़वन गांव भी गए थे, जहां पुलिस फायरिंग में पांच किसानों की मौत हुई थी. बावजूद इसके, किसानों की हताशा थमने का नाम नहीं ले रही है.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंदसौर में किसानों पर फायरिंग के बाद शांति उपवास रखा था.

मंदसौर फायरिंग में 3 अफसरों पर गाज

इस बीच शिवराज सरकार ने मंदसौर में 6 किसानों की मौत का ठीकरा तत्कालीन डीएम, एसपी समेत 3 अधिकारियों पर फोड़ दिया है. राज्य सरकार ने मंदसौर के पूर्व जिलाधिकारी स्वतंत्र कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक ओपी त्रिपाठी और नगर पुलिस अधीक्षक साई कृष्णा थोटा को इस घटना का जिम्मेदार ठहराते हुए निलंबित कर दिया है.

राज्य सरकार की ओर से बुधवार देर शाम जारी आदेश में तीनों अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है. इन तीनों अधिकारियों को मंदसौर में हिंसा और पुलिस गोलाबारी के बाद वहां से हटा दिया गया था.

 

दरअसल एमपी में किसानों ने कर्जमाफी और पैदावार के सही दाम की मांग को लेकर एक से 10 जून तक आंदोलन किया था. इस दौरान 6 जून को मंदसौर में हुई पुलिस फायरिंग में 5 किसानों की मौत हुई थी, जबकि बाद में एक किसान की पुलिस पिटाई से मौत हो गई थी. इस घटना के बाद किसान आंदोलन हिंसक हो गया था और मंदसौर में कर्फ्यू लगाना पड़ा था.

मध्य प्रदेश के गृहमंत्री ने मंदसौर घटना के बाद किसानों की मौत पुलिस फायरिंग में होने से इनकार कर दिया था, लेकिन 3 दिनों बाद उन्होंने यू-टर्न लेते हुए कहा कि पांच किसानों की मौत पुलिस की गोली से ही हुई.

First published: 22 June 2017, 10:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी