Home » मध्य प्रदेश » Madhya Pradesh Home Minister Bhupendra Singh says porn sites in reason for child rape and molestation
 

मध्यप्रदेश के गृहमंत्री ने कहा- पोर्न फिल्मों से बढ़ीं रेप की वारदात, लगाएंगे बैन

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 April 2018, 13:14 IST

देश में बढ़ रही रेप की घटनाओं को लेकर बीजेपी के नेता तरह-तरह के बयान दे रहे हैं. अब मध्‍यप्रदेश के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह का कहना है कि ऐसी घटनाओं के लिए पोर्न साइट्स जिम्‍मेदार हैं. उन्होंने कहा कि चाइल्ड रेप और छेड़छाड़ का कारण पॉर्न है.

गृह मंत्री ने कहा कि हम मध्य प्रदेश में पॉर्न बैन करने पर विचार कर रहे हैं. भूपेंद्र सिंह ने कहा कि बच्‍चों पर ऐसी साइट्स का गलत असर पड़ता है, इसलिए देश में पोर्न साइट्स को बैन कर दिया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि इस मामले में हम केंद्र का रुख करेंगे.

बता दें कि राष्ट्रपति ने 12 साल से कम उम्र की बच्चियों से रेप के मामलों में दोषियों को मृत्युदंड सहित सख्त सजा के प्रावधान वाले अध्यादेश पर मुहर लगा दी है. केंद्र सरकार द्वारा पारित अध्यादेश पर राष्ट्रपति ने रविवार को हस्ताक्षर किये हैं.

ये कोई पहला मौका नहीं है जब बीजेपी के किसी मंत्री ने इस तरह का बयान दिया हो. इससे पहले केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार रेप की घटनाओं को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा था कि इनको रोका नहीं जा सकता है. गंगवार ने कहा था कि सरकार सक्रिय है सब जगह, कार्रवाइयां हो रही हैं. इतने बड़े देश में एक दो घटनाएं हो जाएं तो बात का बतंगड़ नहीं बनाना चाहिए.

बता दें कि शनिवार (21 अप्रैल) को मोदी सरकार ने इस अध्यादेश को पारित किया था. आपराधिक कानून संशोधन अध्यादेश में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी), साक्ष्य कानून, आपराधिक प्रक्रिया संहिता और बाल यौन अपराध संरक्षण कानून (पोक्सो) में संशोधन का प्रावधान है. इसमें ऐसे अपराधों के दोषियों के लिए मौत की सजा का नया प्रावधान लाने की बात कही गई है.

ये भी पढ़ें- साध्वी प्रज्ञा ने कहा- कठुआ मामला है राजनीतिक षड्‍यंत्र, नहीं हुआ था बलात्कार

First published: 24 April 2018, 13:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी