Home » मध्य प्रदेश » Madhya Pradesh: Pakistan return Jitendra Arjunwar threat CM Shivraj Singh Chauhan arrest
 

MP: पाकिस्तान से आए शख्स ने CM शिवराज को दी धमकी- 'इलाके में आए तो गोली मार दूंगा'

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 August 2018, 9:34 IST

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को ट्विटर पर जान से मारने की धमकी देने वाले दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. इसमें से एक युवक कुछ ही महीने पहले पाकिस्तान से रिहा होकर वापस भारत आया है. युवक ने शिवराज सिंह चौहान को ट्विटर पर जान से मारने की धमकी दी जिसके बाद उसे और उसके सगे भाई को राज्य साइबर सेल की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. हालांकि बाद में उन्हें छोड़ दिया गया.

भोपाल स्थित राज्य साइबर पुलिस को सोशल मीडिया पेट्रोलिंग के दौरान पता चला कि अज्ञात व्यक्ति ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को ट्विटर के जरिए जान से मारने की धमकी दी है. इसके बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया और दो घंटे के अंदर ट्विटर के जरिए आरोपियों को तलाश लिया.

ट्विटर हैंडल को खंगालने पर पता चला था कि इस ट्विटर हैंडल से 2 अगस्त से लेकर 7 अगस्त तक कुल पांच ट्वीट किए गए थे और सभी में सीएम को मारने की धमकी थी. बता दें कि शिवराज सिंह चौहान उसी दिन जनआशीर्वाद यात्रा लेकर सिवनी पहुंचने वाले थे इसलिए मामले को अतिसंवेदनशील कैटेगरी में रखते हुए साइबर सेल ने कार्रवाई शुरू की और IPC की धारा 506, 507, 66 (c) & 66 IT act के तहत मामला दर्ज लिया.

पढ़ें- केरल में बाढ़ के कहर से 26 लोगों की मौत, सेना और NDRF की मदद से बचाव कार्य जारी

इसके बाद साइबर पुलिस ने 24 घंटे के भीतर आरोपी जितेंद्र अर्जुनवार और उसके छोटे भाई भरत को गिरफ्तार कर लिया. दोनों भाई की गिरफ्तारी सिवनी जिले के बरघाट से हुई. बता दें कि जितेेंद्र हाल ही में पाकिस्तान से रिहा होकर भारत आया था. जितेंद्र मूल रूप से मध्य प्रदेश के सिवनी जिले का रहने वाला है.

दरअसल, जितेंद्र अर्जुनवार साल 2013 में गलती से इंटरनेशनल बॉर्डर को पारकर पाकिस्तान पहुंच गया था. पाकिस्तान की पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था और वहां की अदालत ने सजा सुनाते हुए उसे जेल भेज दिया था, लेकिन जब जितेंद्र के भारतीय नागरिकता से जुड़े कागज़ात सामने आए तो पाकिस्तान सरकार ने अर्जुन को रिहा कर दिया था.

पढ़ें- 'ममता बनर्जी बंगाल में BJP के बढ़ते जनाधार से बौखला गई हैं'

पूछताछ में पता चला कि उसे स्थानीय स्तर पर प्रशासन और जन प्रतिनिधियों ने भरपूर मदद का आश्वासन दिया था क्योंकि विकलांग होने की वजह से वह परिवार पर आश्रित था. लेकिन मदद नहीं मिलने की वजह से उसके और उसके भाई में गुस्सा था और इसी गुस्से के चलते उन्होंने सीएम को सोशल मीडिया पर धमकी दे डाली थी.

First published: 10 August 2018, 9:34 IST
 
अगली कहानी