Home » मध्य प्रदेश » Madhya Pradesh: Spiritual leader Bhayyuji Maharaj allegedly shoots himself, death
 

आध्यात्मिक गुरू भय्यूजी महाराज ने गोली मारकर की आत्महत्या, अन्ना हजारे का तुड़वाया था अनशन

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 June 2018, 15:44 IST

आध्यात्मिक गुरु और सामाजिक कार्यकर्ता भय्यूजी महाराज ने खुद को गोली मार ली. उन्हें घायल अवस्था में हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया, जहां उनकी मौत हो गई. पिछले साल भय्यूजी महाराज तब ज्यादा सुर्खियों में आए थे जब उन्होंने पहली पत्नी की मौत के बाद दूसरी शादी की थी.

हालांकि अभी पता नहीं चल पाया है कि भय्यूजी ने यह कदम किन परिस्थितियों में उठाया. इंदौर के बॉम्बे हॉस्पिटल में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है. बता दें कि भय्यूजी राजनीति में गहरी पैठ रखते थे. शिवराज सरकार ने उन्हें राज्यमंत्री का दर्जा दिया था. हालांकि उन्होंने मध्य प्रदेश सरकार के इस प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया था. उन्होंने कहा था कि संतों के लिए पद का महत्व नहीं होता.

उनका असली नाम उदयसिंह देशमुख था और उनके पिता महाराष्ट्र में कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे हैं. वह संघ के करीबी माने जाते थे. सबसे पहले उनका नाम तब चर्चा में आया था, जब भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन के दौरान भूख हड़ताल पर बैठे समाजसेवी अन्ना हजारे को मनाने के लिए यूपीए सरकार ने उनसे संपर्क किया था.

पढ़ें- PM मोदी की सुरक्षा को लेकर गृहमंत्री अलर्ट, सुरक्षा एजेंसियों को दिया सिक्योरिटी बढ़ाने का निर्देश

खबर के अनुसार, भय्यूजी महाराज ने मंगलवार दोपहर को सिल्वर स्प्रिंग स्थित अपने बंगले की दूसरी मंजिल पर खुद को गोली मारी. बताया जाता है कि पिछले तीन दिनों से वह पारिवारिक विवाद की वजह से काफी परेशान थे. शायद इस वजह से डिप्रेशन के चलते उन्होंने खुद को गोली मारी. 

First published: 12 June 2018, 15:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी