Home » मध्य प्रदेश » Madhya Pradesh: Supreme Court stays death sentence of man convicted for raping minor girl
 

मध्य प्रदेश: सुप्रीम कोर्ट ने 4 साल की बच्ची से रेप और हत्या के दोषी की फांसी पर लगाई रोक

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 September 2018, 13:49 IST
(file photo )

सुप्रीम कोर्ट ने मध्य प्रदेश में 4 साल की बच्ची के साथ रेप और हत्या के दोषी की फांसी की सजा पर अंतरिम रोक लगा दी है. इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. बच्ची के साथ रेप और हत्या के दोषी की फांसी पर सुप्रीम कोर्ट की रोक को मध्य प्रदेश सरकार के नए बलात्कार रोधी कानून के लिए झटका माना जा रहा है, जो नाबालिग बच्चियों के साथ रेप के दोषी को मौत की सजा का प्रावधान देता है.

मीडिया खबरों के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट ने मध्य प्रदेश में 4 साल की बच्ची के साथ रेप और हत्या के दोषी विनोद की फांसी की सज़ा पर अंतरिम रोक लगा दी है. इसके साथ ही इस मामले में राज्य सरकार से जवाब मांगा है. बता दें कि 4 साल की बच्ची के साथ रेप और हत्या के दोषी विनोद राय ने हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है. जहां उसको कुछ समय के लिए राहत मिल गई है.

बता दें कि इसी साल 28 फ़रवरी को शहडोल की निचली अदालत ने विनोद को 4 साल की बच्ची के साथ रेप और हत्या के आरोप में दोषी पाया था. उसको फांसी की सजा सुनाई थी. जिसको विनोदने हाईकोर्ट में चुनौती दी. मध्य प्रदेश हाईकोर्ट ने भी इस मामले में 9 अगस्त को अपना फैसला सुनाते हुए बरकरार रखा. जिसके बाद विनोद ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है.

आपको बता दें कि विनोद ने 13 मई 2017 को 4 साल की बच्ची के साथ रेप किया था और बाद में उसकी हत्या कर थी. जिसमें उसको दोषी पाया गया है.

ये भी पढ़ें- MP: रेप के मामले में सबसे तेज फैसला, अदालत ने महज इतने दिन में सुनाई मौत की सजा

First published: 18 September 2018, 13:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी