Home » मध्य प्रदेश » Mandsaur Firing: MP Police included physically hadicapped in accused list
 

'MP पुलिस' अजब है: मंदसौर फायरिंग में अपाहिज को बनाया इनामी आरोपी

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 July 2017, 11:27 IST

एमपी अजब है, सबसे गजब है. मध्य प्रदेश टूरिज्म के प्रचार का ये जुमला एक बार फिर सूबे पर लागू हुआ है. अबकी बारी है मध्य प्रदेश पुलिस की.

मध्य प्रदेश की पुलिस जो न करे सो थोड़ा! अब देखिए न, मंदसौर में जून में हुई हिंसा और आगजनी के मामले में आरोपी बनाए गए 32 लोगों में से एक शख़्स ऐसा है, जो अपाहिज है और बीते छह साल से बिस्तर से अपने सहारे उठ भी नहीं सकता.

मध्य प्रदेश विधानसभा में शुक्रवार को चर्चा के दौरान कांग्रेस विधायक रामनिवास रावत ने अपाहिज को आरोपी बनाकर पांच हजार रुपये का इनाम घोषित किए जाने का मसला उठाया.

उन्होंने बताया कि छह जून को मंदसौर में किसानों पर हुई गोलीबारी के मामले में पुलिस ने आरोपियों को खोजने के लिए 32 लोगों की सूची जारी कर पांच-पांच हजार रुपये का इनाम घोषित किया है.

रावत ने इस सूची में एक अपाहिज का भी नाम होने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, "नानूराम चर्मकार का बेटा बद्रीलाल अपाहिज है और साल 2011 से बिस्तर पर पड़ा है और वह चल भी नहीं सकता. उसे भी पुलिस ने आरोपी बना दिया है."

मध्य प्रदेश में 2 जून से 10 जून तक हुए किसान आंदोलन के दौरान 6 जून को मंदसौर में पुलिस फायरिंग और लाठीचार्ज में 6 किसानों की मौत हो गई थी. हिंसक प्रदर्शनकारियों ने इस दौरान आगजनी भी की थी.

पुलिस ने आगजनी और हिंसा की अन्य घटनाओं में शामिल लोगों की जो सूची बनाई है, उसमें 32 अभियुक्तों के नाम हैं. इस मामले में मध्य प्रदेश की राजनीति काफी गरमाई है. कांग्रेस ने राज्य की शिवराज सिंह चौहान सरकार पर किसानों की अनदेखी का आरोप लगाया है.

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी धारा 144 को तोड़ते हुए मंदसौर फायरिंग में मारे गए किसानों से मिलने के लिए पहुंचे थे, लेकिन उन्हें नीमच में ही पुलिस ने रोककर हिरासत में ले लिया था.

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल के दशहरा ग्राउंड में शांति उपवास रखा था. इस दौरान किसान संगठनों से बातचीत के बाद उन्होंने अपना अनशन खत्म कर दिया था और किसानों की समस्याओं को सुलझाने का भरोसा दिया था. 

शिवराज ने कहा था कि आठ रुपये प्रति किलो की दर से किसानों का एक-एक प्याज खरीदा जाएगा. हालांकि राज्य में प्याज खरीद में गड़बड़ी की बात भी सामने आ रही है.

First published: 22 July 2017, 11:27 IST
 
अगली कहानी