Home » मध्य प्रदेश » Mandsaur Gangrape: CM transferred 5 lacs in victim father's account, Father refuse say accused to be hanged
 

मंदसौर निर्भया कांड: पीड़ित परिवार ने 5 लाख ठुकराए, बोले- आरोपी को फांसी दो

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 July 2018, 10:47 IST

मध्यप्रदेश के मंदसौर में सात साल की मासूम के साथ निर्भया जैसी हैवानियत की गई. इसके बाद इस पर राजनीति हावी है. एक दिन पहले ही भाजपा विधायक ने पीड़ित परिवार से भाजपा सांसद द्वारा मिलने जाने के बाद धन्यवाद की मांग की थी. इसके बाद भाजपा की खूब फजीहत हुई थी. 

वहीं अब शिवराज सिंह चौहान सरकार ने पीड़ित परिवार को पैसे भेजे हैं. जिसके बाद परिवार ने पैसे लेने से इनकार कर दिया है. पीड़िता के पिता का कहना है कि हमें पैसे नहीं चाहिए बल्कि आरोपियों को फांसी दी जानी चाहिए. 

पीड़िता के पिता ने न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत के दौरान कहा, "मुझे पैसे नहीं अपनी बच्ची के लिए इंसाफ चाहिए. अकाउंट में लाखों ना आए, लेकिन आरोपी को फांसी की सजा मिलनी चाहिए, ताकि आगे से कोई भी शख्स ऐसा करने की सोचे भी तो उसकी रूह कांप जाए."

बता दें कि प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री अर्चना ने कहा था, "सीएम शिवराज सिंह चौहान ने पीड़िता के पिता के खाते में 5 लाख रुपये ट्रांसफर कर दिए हैं, प्रदेश सरकार द्वारा बच्ची के स्वास्थ्य और पढ़ाई का ध्यान रखा जा रहा है." उन्होंने कहा कि पुलिस इस मामले की जांच कर रही है जल्द ही आरोपियों को सजा दी जाएगी. 

बता दें कि मंदसौर में मंगलवार को 7 साल की छात्रा को अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म किया गया था. पीड़ित मासूम के शरीर पर कई जगह चोट के निशान पाए गए थे. मासूम के चेहरे पर भी कई कट के निशान थे. पुलिस को बच्ची 12 बजे करीब मंदसौर बस स्टैंड के पीछे लक्ष्मण दरवाजे के पास झाड़ियों में नाले के करीब बदहवास हालत में मिली थी.

पढ़ें- एक बार फिर बढ़ी PAN-Aadhaar लिकिंग की आखरी तारीख, ये है नई डेट

जिसके बाद छात्रा को मंदसौर से इलाज के लिए इंदौर रेफर किया गया था. इंदौर में हुई जांच में बच्ची के साथ यौन हिंसा की पुष्टी की गई है. 

First published: 1 July 2018, 10:44 IST
 
अगली कहानी