Home » मध्य प्रदेश » Migrant Workers on Road: four migrant labourers killed after being crushed by a truck in Barwani MP
 

मध्य प्रदेश में फिर हुआ दर्दनाक हादसा, पति-पत्नी समेत चार मजदूरों को ट्रक ने कुचला

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 May 2020, 11:11 IST

Migrant Workers on Road: सरकार की लाख कोशिशों के बाद भी प्रवासी मजदूरों (Migrant Labourers) का पलायन जारी है. मजदूरों (Labourers) के पलायन करने से सरकारों (Governments) के इंतजामों की भी पोल खुल रही है. पैदल ही अपने घर जाने को मजबूर इन मजदूरों के साथ रोजाना हादसे हो रहेे हैं. रविवार को एक बार फिर दर्दनाक हादसे में चार प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई. ये हादसा मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में हुआ जहां एक ट्रक ने सड़क पर चल रहे चार मजदूरों को कुचल दिया. चारों की मौके पर ही मौत हो गई.

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, मध्य प्रदेश के बड़वानी में ट्रक की चपेट में आने से चार लोगों की मौत हो गई. मरने वालों में एक प्रवासी मजदूर और उसकी पत्नी भी शामिल हैं. बताया जा रहे हैं ये मजदूर महाराष्ट्र से अपने गृह नगर इंदौर लौट रहे थे. लेकिन मध्य प्रदेश के बड़वानी में तेज रफ्तार ट्रक ने इन्हें कुचल दिया. इससे पहले भी शनिवार को भी मध्य प्रदेश के गुना में एक सड़क हादसे में छह लोगों की मौत हो गई थी.


उत्तर प्रदेश: कोरोना से 45 दिनों में 95 लोग मरे, मात्र 20 दिनों में रोड एक्सीडेंस में 70 ने गंवाई जान

बता दें कि लॉकडाउन के करीब 60 दिन बीत जाने के बाद इन मजदूरों के पास सरकारी मदद नहीं पहुंच पाई है. साथ ही उनकी जमा पूंजी भी समाप्त हो चुकी है ऐसे में वह खाने-पीने की चीजों के लिए मोहताज हो गए है. अब उनके पास पैदल ही अपने घरों को जाने का ही रास्ता बना है. ऐसे में तमाम मजदूर अपनी जान जोखिम में डालकर ट्रक, डीसीएम, ट्रेम्पो और ट्रोला जैसे साधनों का भी प्रयोग कर रहे हैं. शनिवार को ही उत्तर प्रदेश के औरैैया में भी एक सड़क हादसे में 24 मजदूरों की मौत हो गई और करीब 16 मजदूर गंभीर रूप से घायल हो गए थे. सभी मजदूर एक डीसीएम और एक ट्रॉले में सवार हो कर अपने घर टौल रहे थे. तभी ट्रॉला ने डीसीएम में पीछे से टक्कर मार दी. जिससे ट्रॉला में सवार 24 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई.

उत्तर प्रदेश: कोरोना से 45 दिनों में 95 लोग मरे, मात्र 20 दिनों में रोड एक्सीडेंस में 70 ने गंवाई जान

Coronavirus: पैदल घर जा रहे थे मजदूर, अचानक पहुंचे राहुल गांधी, कार से भिजवाया घर

उससे पहले बीते बुधवार को भी मध्य प्रदेश में एक सड़क हादसे में आठ मजदूरों की मौत हो गई थी. इस सड़क हादसे में करीब 50 से अधिक मजदूर घायल हो गए थे. ये हादसा मध्य प्रदेश के गुना में हुआ था. इस हादसे में मारे गए सभी मजदूर एक ट्रक में सवार हो कर महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश में अपने घर लौट रहे थे. यह हादसा तब हुआ जब जब ट्रक की बस से टक्कर हो गई. उससे पहले उत्तर प्रदेश के सहारनपुर और बिहार के समस्तीपुर में भी ऐसे ही सड़क हादसे हुए जिनमें कई प्रवासी मजदूरों की असमय ही मौत हो गई.

COVID-19: दुनियाभर में मरने वालों का आंकड़ा 3.13 लाख के पार, भारत में चीन से ज्यादा संक्रमित

उससे पहले महाराष्ट्र के औरंगाबाद में पैदल घर जा रहे 16 मजदूरों की मालगाड़ी से कटकर मौत हो गई. ये हादसा उस वक्त हुआ जब कुच मजदूर रेलवे लाइन के सहारे अपने घर की ओर बढ़ रहे थे. रास्ते में थक-हारकर मजदूर रेलवे लाइन पर ही सो गए. इस दौरान रेलवे ट्रैक से गुजरी एक मालगाडी ने 16 मजदूरों का काट दिया. सभी मजदूरों ने सड़क पर पुलिस के डर से रेलवे लाइन पर चलकर मध्य प्रदेश के लिए अपना सफर शुरु किया था.

कोरोना वायरसः भारत में अब तक का सबसे बड़ा उछाल, 24 घंटे में सामने आए 4987 नए मामले

First published: 17 May 2020, 11:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी