Home » मध्य प्रदेश » MP Civic Bodies Election results: Shivraj Singh Chauhan wins first battle after Mandsaur farmers protest
 

MP: मंदसौर में मातम के बाद पहली परीक्षा में 'मामा' पास, कांग्रेस भी फ़ायदे में

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 August 2017, 17:27 IST
ट्विटर

मध्य प्रदेश में 43 नगरीय निकाय और पंचायत प्रतिनिधियों के चुनाव के नतीजे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के लिए बड़ी राहत बनकर आए हैं. मंदसौर में छह जून को पुलिस कार्रवाई के दौरान सात किसान आंदोलनकारियों की मौत के बाद इस चुनाव को शिवराज के लिए परीक्षा माना जा रहा था. रुझानों और नतीजों में भारतीय जनता पार्टी ने अपनी प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस को पीछे छोड़ दिया है.

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवारों ने 25 नगरीय निकायों में जीत हासिल की है, जबकि कांग्रेस के उम्मीदवार 15 जगहों पर विजयी होने में कामयाब रहे. राज्य निर्वाचन आयोग के कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक, नगरीय निकायों के चुनाव की मतगणना का काम पूरा हो चुका है. वहीं तीन स्थानों पर निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की.

मतगणना के रुझान के आधार पर भाजपा और कांग्रेस दोनों में उत्साह का माहौल है. भाजपा के प्रदेश कार्यालय में प्रदेश अध्यक्ष नंद कुमार सिंह चौहान और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि यह जीत कार्यकर्ताओं के परिश्रम की जीत है. शिवराज ने एक के बाद एक सिलसिलेवार ट्वीट करते हुए जीत पर खुशी जताई है.

शिवराज ने ट्वीट किया, "मध्य प्रदेश के नगर निकाय चुनाव में भाजपा को मिली शानदार जीत के लिए प्रदेश के सभी पार्टी कार्यकर्ताओं को बधाई. सभी विजयी प्रत्याशियों व जुझारु कार्यकर्ताओं को नगरीय निकाय चुनावों में मिली भारी जीत पर हार्दिक शुभकामनाएं."

शिवराज ने अगले ट्वीट में लिखा, "प्रदेश के नगरीय निकाय चुनावों में भाजपा को मिली जीत विकास की जीत है. जनता ने हमें जनमत सौंपा है, हम उनकी आशाओं पर अवश्य ही खरे उतरेंगे."

शिवराज ने केंद्रीय नेतृत्व को भी जीत का श्रेय देते हुए ट्वीट किया, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह एवं प्रदेश अध्यक्ष नंद कुमार सिंह चौहान के नेतृत्व में विकास की नई बयार बहेगी."

शिवराज ने कहा, "मध्य प्रदेश के नगर निकाय चुनाव में भाजपा की प्रचंड जीत पर प्रदेश की जनता और कार्यकर्ताओं को बधाई. भाजपा ने जनता का विश्वास जीतने में एक बार फिर नगर निकाय में कामयाबी पाई. अब बारी है उनके विश्वास को सही साबित करने की."

कांग्रेस को 6 सीटों का फ़ायदा

हालांकि कांग्रेस को भी इस चुनाव में फायदा हुआ है. उसकी सीटें नौ से बढ़कर 15 पहुंच गई हैं. वहीं भाजपा की सीटें दो घटकर 25 ही रह गई हैं. इसके अलावा तीन नगरीय निकायों में निर्दलीयों ने कब्जा जमाया है.

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव का कहना है कि कांग्रेस का प्रदर्शन बेहतर रहा है, मगर अपेक्षा के अनुरूप नहीं, क्योंकि सरकारी मशीनरी का सत्ता पक्ष ने जमकर दुरुपयोग किया है.

43 नगरीय निकाय के लिए 11 अगस्त को हुए मतदान में करीब आठ लाख मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था. अध्यक्ष पद के लिए 161 और पार्षद पद के 2,133 उम्मीदवार मैदान में थे.

साभार: आईएएनएस

First published: 16 August 2017, 17:27 IST
 
अगली कहानी