Home » मध्य प्रदेश » MP HM Bhupendra Singh says Death of the 5 farmers was due to Police firing.
 

मंदसौर हिंसा: गृह मंत्री का यू-़टर्न, पुलिस फायरिंग की न्यायिक जांच का आदेश

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 June 2017, 15:48 IST

मध्य प्रदेश के मंदसौर में प्रदर्शन के दौरान किसानों पर हुई गोलीबारी के मामले में सियासत तेज हो चुकी है. राज्य के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने अपने पुराने बयान से किनारा कर लिया है.

गुरुवार को भूपेंद्र सिंह ने ये माना कि प्रदर्शन के दौरान पांच किसानों की मौत पुलिस की फायरिंग से हुई है. उन्होंने कहा कि मामले की जांच में यह बात सामने आई है. पहले उन्होंने कहा था कि किसानों की मौत किसकी गोली से हुई, ये साफ नहीं है.

 

इससे पहले किसानों की फायरिंग से हुई मौत के बाद भूपेंद्र सिंह ने कहा था, "मंदसौर में पुलिस ने कोई गोली नहीं चलाई." गोली चलने की घटना की जांच के आदेश दिए गए हैं और कुछ इलाकों में कर्फ्य़ू भी लगाना पड़ा है.

मध्य प्रदेश के गृहमंत्री ने कहा, "मंदसौर की घटना के पीछे कांग्रेस का हाथ हैं. कांग्रेस के नेता पूरे आंदोलन को राजनीतिक रंग देने की कोशिश कर रहे हैं. असामाजिक तत्व किसान आंदोलन में शामिल हुए, जिन्होंने इस घटना को अंजाम दिया. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी मामले में राजनीति कर रहे हैं."

भूपेंद्र सिंह ने सवाल दागा कि जब किसान पिछले छह दिन से प्रदर्शन कर रहे थे, तब राहुल गांधी कहां थे? उन्होंने दावा किया कि अब हालात काबू में हैं. मामले की न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं, ताकि किसानों पर फायरिंग करने वाले पुलिसकर्मियों की पहचान की जा सके.

First published: 8 June 2017, 15:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी