Home » मध्य प्रदेश » Narmada Bachao Andolan (NBA) leader Medha Patkar released from Dhar jai in mp after Granted Bail By Indore Court In Abduction Case.
 

16 दिन बाद से जेल से रिहा हुईं मेधा पाटकर

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 August 2017, 17:07 IST

मध्य प्रदेश के धार जिला जेल में 16 दिन से बंद नर्मदा बचाओ आंदोलन की कार्यकर्ता मेधा पाटकर शुक्रवार को रिहा हो गईं. उन्हें बुधवार को उच्च न्यायालय की इंदौर खंडपीठ से जमानत मिल गई थी. 

नर्मदा बचाओ आंदोलन से संबद्घ कार्यकर्ता अमूल्य निधि ने आईएएनएस को बताया कि उच्च न्यायालय से जमानत मिलने के बाद बुधवार को आदेश धार जिला जेल तक नहीं पहुंच पाया, जिससे रिहाई नहीं हो सकी.

गुरुवार को उच्च न्यायालय के जमानत के आदेश को कुक्षी के अनुविभागीय अधिकारी, राजस्व (एसडीएम) के समक्ष प्रस्तुत किया गया, उनके निर्देश पर धार जिला जेल से मेधा पाटकर को रिहा किया गया.

गौरतलब है कि सरदार सरोवर बांध की उंचाई बढ़ाए जाने से डूब में आने वाले नर्मदा घाटी के 192 गांव और एक नगर के 40 हजार परिवारों के बेहतर पुनर्वास और उसके बाद विस्थापन की मांग को लेकर मेधा उपवास कर रही थीं, जहां से उन्हें सात अगस्त को पुलिस ने जबरन उठाकर इंदौर के अस्पताल में भर्ती कराया.

नौ अगस्त को अस्पताल से छुटटी मिलने के बाद जब वे बड़वानी जा रही थीं, तभी रास्ते में धार जिले के कुक्षी क्षेत्र में पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया और चार प्रकरण दर्ज किए, जिसमें अपहरण जैसा गंभीर मामला भी शामिल था. 

बताया गया कि मेधा पाटकर पर चार मुकदमे दर्ज किए गए थे, जिसमें से कुक्षी तथा धार जिला न्यायालय ने तीन मामलों में जमानत दे दी थी, लेकिन चौथे प्रकरण धारा 365 (अपहरण) का था, जिसे खारिज कर दिया था. इस मामले में बुधवार को इंदौर उच्च न्यायालय के न्यायाधीश वेद प्रकाश शर्मा की पीठ ने उन्हें जमानत दे दी.

First published: 24 August 2017, 17:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी