Home » मध्य प्रदेश » Seven workers died in Ujjain MP after consuming country liquor
 

उज्जैन में सात मजदूरों की मौत, जहरीली शराब पीने की आशंका

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 October 2020, 23:51 IST

Seven workers died in Ujjain: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के उज्जैन (Ujjain) मेंं अलग-अलग इलाकों में बुधवार (Wednesday) को एक के बाद एक सात मजदूरों (Labour) की मौत हो गई. ये सातों मजदूर बुधवार सुबह से शाम तक तीन थाना क्षेत्रों में मौत के मुंह में समा गए. ऐसा माना जा रहा है कि इन मजदूरों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई है. हालांकि, इस बात की पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट (Post Mortem) आने के बाद ही हो सकेगी. जानकारी के मुताबिक, ये मजदूर कहारवाड़ी इलाके से सस्ती झिंझर शराब खरीदकर पिया करते थे.

छत्री चौक सराय के फुटपाथ पर बुधवार की सुबह सात बजे दो मजदूरों के शव मिले थे. पहले इन मजदूरों के साथियों को लगा कि वो सो रहे हैं, मगर कुछ देर बाद उन्होंने जब जगाने की कोशिश की तो पता चला कि इनकी मौत हो गई है. इसके बाद यहां से कुछ दूर दो अन्य मजदूर बेहोशी की हालत में मिले, जिन्हें अस्पताल पहुंचाया गया. पुलिस के मुताबिक, नागदा निवाली विजय उर्फ कृष्णा (41) और पिपलौदा बागला निवासी शंकरलाल (40) की मौत हो गई. इनमें से शंकरलाल एक सैलून पर काम करता था. दोनों ही रोज शराब पिया करते थे.


वहीं, दानी गेट निवासी बबलू (40) और छत्री चौक सराय निवासी बद्री लाल (65) भी बेहोशी की हालत में मिले. इन्होंने पुलिस को झिंझर पीने की बात बताई. शाम को इनकी भी मौत हो गई. इसके बाद शाम सात बजे माधव गोशाला के पास 45 साल के दिनेश जोशी का शव बरामद हुआ. पुलिस के मुताबिक, वह भी शराब का लती था. इसी तरह शाम को ही महाकाल थाना क्षेत्र के बेगमबाग निवासी पीर शाह (45) की अस्पताल में मौत हो घई. इसके अलावा छत्री चौक की पार्किंग से एक 85 साल के एक बुजुर्ग का शव मिला है. हालांकि, इस बुजुर्ग की पहचान अभी नहीं हो पाई है.

दालों की बढ़ती कीतमों पर अंकुश लगाने के लिए एक्शन में केंद्र सरकार, उठाया ये बड़ा कदम

First published: 14 October 2020, 23:51 IST
 
अगली कहानी