Home » मध्य प्रदेश » MP Jail Minister Kusum Mehdele says should be praised for encounter is spite of criticism
 

एमपी की जेल मंत्री बोलीं- 'सिमी के लोगों को मार गिराने के लिए आलोचना नहीं तारीफ हो'

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:46 IST
(ट्विटर)

मध्य प्रदेश के भोपाल में सिमी कार्यकर्ताओं के मुठभेड़ में मारे जाने को लेकर उठे सवालों के बीच राज्य की जेल मंत्री कुसुुम मेहदाले ने कहा है कि उनकी इस एनकाउंटर के लिए तारीफ होनी चाहिए.

सोमवार सुबह सिमी के आठ कार्यकर्ताओं को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया था. पुलिस के मुताबिक सिमी के सदस्य भोपाल सेंट्रल जेल के हेड गार्ड रामशंकर यादव की हत्या के बाद चादर से बनाई रस्सी की मदद से फरार हो गए थे.

एक समाचार चैनल से बातचीत में जेल मंत्री कुसुम मेहदाले ने कहा, "आप लोगों को हमारी तारीफ करनी चाहिए कि हमने आरोपियों के भाग निकलने के बावजूद उन्हें मार गिराया."

वीडियो से मुठभेड़ पर उठे सवाल

सोमवार को एनकाउंटर में मारे गए आठों लोग प्रतिबंधित संगठन सिमी (स्टूडेंट्स इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया) के सदस्य थे. हत्या से लेकर देशद्रोह के आरोपों में वे भोपाल सेंट्रल जेल में बंद थे.

पुलिस ने कहा है कि जब सिमी के फरार सदस्यों ने उन पर गोली चलाई तो एनकाउंटर में उन्हें मार गिराया गया, लेकिन एक वीडियो सामने आने के बाद से मुठभेड़ को लेकर सवाल उठ रहे हैं.

भोपाल से सटे घने जंगल के इलाके में शूट हुए इस वीडियो को कथित रूप से एक पुलिस वाले ने ही बनाया है. इसमें आवाज सुनाई दे रही है, "गोलीबारी का वीडियो क्यों शूट किया जा रहा है, इसकी छाती में गोली मार दो." 

मंत्री ने कुछ कमियों की बात मानी

मध्य प्रदेश की जेलमंत्री कुसुम मेहदाले ने समाचार चैनल से बातचीत में कहा, "मैं मानती हूं कि कुछ कमियां रह गईं. हो सकता है कि जेल में लगे कुछ सीसीटीवी कैमरे काम न कर रहे हों. वे लोग जेल की दीवार पर चढ़ने में कैसे कामयाब हुए, मैं नहीं जानती."

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) को मुठभेड़ की जांच की ज़िम्मेदारी सौंपी गई है. मारे गए सिमी के कार्यकर्ता जेल के मुख्य आरक्षी रमाशंकर यादव की हत्या के बाद फरार हुए थे. 

इस बीच रमाशंकर यादव का आज पुलिस सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया. मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि दिवंगत रमाशंकर के परिवार को 10 लाख की आर्थिक मदद, बेटी की शादी के लिए पांच लाख और कॉलोनी का नाम उनके नाम पर रखा जाएगा.

एनकाउंटर के चश्मदीद का इंटरव्यू

इस बीच समाचार एजेंसी एएनआई ने एक वीडियो जारी किया है. जिसमें एजेंसी के रिपोर्टर संदीप सिंह ने भोपाल में एनकाउंटर के तुरंत बाद एक चश्मदीद का इंटरव्यू किया है.

खेजड़ा गांव के सरपंच मोहन सिंह मीणा इस इंटरव्यू में सवालों के जवाब दे रहे हैं. बताया जा रहा है कि मीणा ही वह पहले शख्स थे, जिन्होंने सिमी के सदस्यों के इलाके में होने के बारे में खुफिया एजेंसियों को अलर्ट करते हुए जानकारी दी.

First published: 1 November 2016, 12:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी