Home » मध्य प्रदेश » This Village of Madhay Pradesh Known As Missing Fathers where children don’d know their father
 

इस गांव के बच्चे नहीं जानते कौन है उसका बाप, हैरान करने वाली है सच्चाई

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 June 2018, 15:00 IST
(प्रतीकात्मक फोटो)

मध्य प्रदेश के पन्ना जिले में एक ऐसा गांव स्थिति है जहां बच्चे अपने पिता को नहीं जानते. इसीलिए इस गांव को लोग 'मिसिंग फादर्स' के नाम से भी जानने लगे हैं. 513 लोगों की आबादी वाला इस गांव में बच्चों के पिता को ना पहचाने के पीछे की वजह कुछ और नहीं रोजगार की कमी हैं.

दरअसल, पन्ना जिले के मनकी गांव को लोग अब मिसिंग फादर्स के नाम से जानने लगे हैं. क्यों कि इस गांव के अधिकांश पुरुष काम की तलाश में गांव से बाहर ही रहते हैं. ये गांव सूखे से प्रभावित है इसीलिए इस गांव के 70 फीसदी पुरुष गांव से बारह मेहनत-मजदूरी कर गुजारा करने को मजबूर हैं.

 

इस गांव के लोग काम की तलाश में दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश चले जाते हैं. गांव में काफी समय से बारिश ना होने की वजह से गांव में भारी सूखा पड़ गया है. इसीलिए इस गांव में खेती करना भी संभव नहीं रहा है. अब तो महिलाएं भी गांव छोड़कर अपने पतियों के साथ काम की तलाश में शहरों की ओर प्रस्थान कर रही हैं.

इस गांव की अधिकांश महिलाएं अपने पतियों के साथ निर्माण स्थलों पर काम करती हैं. घर का खर्चा चल सके इसके लिए वह गर्भवती अवस्था में भी काम करना नहीं छोड़ती यही नहीं वो 7वें और 8वें महीने में भी काम करती हैं. जब उनके प्रसव का समय आता है तभी वह गांव लौटती हैं. वहीं बच्चे जैसे ही थोड़े बड़े होते हैं तो उन्हें गांव में परिवार के अन्य सदस्यों के पास छोड़कर दोबारा काम पर लौट जाती हैं.

प्रतीकात्मक फोटो

बता दें कि इस गांव की महिलाओं को सुरक्षित प्रसव की भी सुविधा उपलब्ध नहीं है. जिसका खामियाजा उन्हें और उनके होने वाले बच्चों को भुगतना पड़ता है. गांव में कोई दाई भी नहीं है और उन्हें किसी अस्पताल में भी नहीं ले जाया जा सकता. जिसकी वजह अस्पतालों का गांव से दूर होना और गांव में पुरुषों का ना होना है. इसलिए घर की महिलाओं को ही डिलीवरी करनी पड़ती है. ता दें कि 2011 में मध्य प्रदेश में विस्थापन का आंकड़ा 1 करोड़ 85 लाख था. जिसमें 50 लाख सिर्फ ग्रामीण इलाकों का था.

ये भी पढ़ें-

First published: 9 June 2018, 15:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी