Home » मध्य प्रदेश » WhatsApp rumour on Child lifter over Mentally challenged woman lynched in Madhya Pradesh
 

मध्य प्रदेश: whatsapp पर फैली बच्चा चोरी की अफवाह के बाद भीड़ ने की महिला की हत्या

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 July 2018, 15:27 IST
(प्रतीतात्मक फोटो)

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी मॉब लिचिंग की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही है. हर रोज देश के किसी ना किसी हिस्से से भीड़ के पीटने की घटनाएं सामने आ रही है. अब मध्यप्रदेश से मॉब लिचिंग की घटना सामने आई है. एमपी के सिंगरौली जिले के थाना मोरवा में बच्चा चोरी की अफवाह में भीड़ ने एक महिला की पीट-पीट कर हत्या कर दी. घटना शनिवार रात की है. पुलिस ने महिला का शव बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. 

जानकारी के अनुसार, व्हाट्सएप बच्चा चोरी को लेकर एक मैसेज वायरल हो रहा था. जिसमें उस महिला को बच्चा चोर बताया जा रहा था. धीरे धीरे ये मैसेज पूरे इलाके में फैल गया.इसके बाद भीड़ ने महिला को पकड़ कर इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई. पुलिस ने महिला के शव को भोस गांव के पास जंगल से बरामद किया.

पुलिस का कहना है कि महिला मानसिक रूप से बीमार थी. वह पिछले कुछ महीनों से इसी इलाके में घूम रही थी. लोगों ने उसको बच्चा चोर समझ लिया. उसकी पिटाई कर दी. जिसमें उसकी मौत हो गई. पुलिस ने बताया कि इस मामले में 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर बच्चा चोरी करने की अफवाह फैलने के बाद भीड़ द्वारा 30 से ज्यादा लोगों की जान ले ली है. आए दिन भीड़ द्वारा किसी ना किसी को अफवाह के चलते पीटे जाने के मामले सामने आ रहे हैं. उस तरह की घटनाओं को लेकर सुप्रीम कोर्ट भी नाराजगी जता चुका है.

सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में आदेश देते हुए केंद्र सरकार और राज्य सरकारों को ऐसे मामलों पर रोक लगाने का आदेश दिया था. कोर्ट ने अपने आदेश में चार हफ्तों के अंदर मॉब लिचिंग को लेकर कानून बनाने की बात कही थी. इसके साथ ही सर्वोच्च अदालत ने टिप्पणी करते हुए कहा था कि किसी भी नागरिक को कानून हाथ में लेने का अधिकार नहीं है. लोकतंत्र में भीड़तंत्र की इजाजत नहीं दी जा सकती.

ये भी पढ़ें- अलवर लिंचिंग: रकबर को अस्पताल ले जाने की बजाय गायों के लिए गाड़ी का इंतजाम कर रही थी पुलिस !

First published: 23 July 2018, 15:27 IST
 
अगली कहानी