Home » महाराष्ट्र न्यूज़ » Bombay High Court grants bail to former Maharashtra deputy CM and NCP leader Chhagan Bhujbal in PMLA case.
 

मनी लॉन्ड्रिंग केसः बॉम्बे हाईकोर्ट से NCP नेता छगन भुजबल दी जमानत

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 May 2018, 17:26 IST
(twitter)

बॉम्बे हाईकोर्ट ने महाराष्ट्र के पूर्व उप  मुख्यमंत्री छगन भुजबल को बड़ी राहत दी है. अदालत ने मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप में जेल में बंद एनसीपी के वरिष्ट नेता छगन भुजबल की जमानत याचिका मंजूर कर ली है. छगन भुजबल मनी लॉन्ड्रिंग केस में साल मार्च 2017 से जेल में बंद हैं. करीब एक साल बाद छगन भुजबल को राहत मिली है.

आपको बता दें कि पिछले साल दिसंबर में सुप्रीम कोर्ट ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट के सेक्शन 45 को हटा दिया था. इस प्रावधान के हटने के बाद इस कानून के तहत जेल में बंद आरोपियों को जमानत मिलना आसान हो गया.

सेक्शन 45 के तहत आरोपी को यह साबित करना पड़ता था कि वह मनी लॉन्ड्रिंग में शामिल नहीं है. सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश के बाद ही एनसीपी नेता छगन भुजबल ने बॉम्बे हाई कोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की थी.

छगन भुजबल के वकील ने अदालत दलील दी थी कि सुप्रीम कोर्ट मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट के सेक्शन 45 को हटा दिया है. इसलिए भुजबल को जमानत दी जानी चाहिए.

गौरतलब है कि  मनी लॉन्ड्रिंग केस में छगन भुजबल को मार्च 2017 में गिरफ्तार किया गया था. तब से वह जेल में बंद थे.  दिसंबर 2017 में छगन भुजबल की जमानत याचिका को मुम्बई की विशेष पीएमएलए (PMLA) कोर्ट ने खारिज कर दिया था. इसके बाद छगन भुजबल ने हाईकोर्ट से जमानत की गुहार लगाई थी. जिसको अब जाकर हाईकोर्ट ने मंजूर किया है.  

First published: 4 May 2018, 17:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी