Home » महाराष्ट्र न्यूज़ » Dalit Must gives notice before three days ago of baraat or marriage in Ujjain Madhaya Pradesh
 

मध्यप्रदेश: दलितों को शादी से पहले देनी होगी पुलिस को जानकारी, ये है वजह

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 May 2018, 10:11 IST

मध्यप्रदेश के उज्जैन जिले की महिदपुर तहसील में अब दलितों की शादी और बारात प्रशासन के पहरे में निकलेंगी. प्रशासन ने ये कदम इसलिए उठाया है जिससे दलितों की शादी समारोह में कोई परेशानी पैदा ना कर सके. इसके लिए दलित समाज के किसी घर में शादी होती है या बाहर से बारात आती है तो उसकी तीन पहले पुलिस को जानकारी देना होगी. यही नहीं विवाह समारोह की जानकारी को लेकर रजिस्टर में इंट्री भी दर्ज करानी होगी.

इस काम की जिम्मेदारी प्रशासन ने सरपंच और पंचायत सचिवों को सौंपी है. महिदपुर एसडीएम की ओर से दलित समाज के विवाह समारोह को लेकर यह आदेश पिछले दिनों एक बारात को लेकर हुए विवाद के बाद जारी किया गया है. बता दें कि महिदपुर तहसील के ही नागगुराडिया गांव में दलित की बारात निकालने को लेकर हुए विवाद हो गया था. जिसमें 17 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी.

इसी घटना को देखते हुए एसडीएम ने ग्राम पंचायद सचिवों से कहा है कि वे अपनी ग्राम पंचायत क्षेत्र में अनुसूचित जाती, अनुसूचित जनजाति और पिछड़ा वर्ग के परिवारों में विवाह समारोह आयोजित होते हैं या बाहर से बारात आती है तो इसकी सूचना तीन दिन पहले दें. इसके अलावा किसी घटना की जानकारी के लिए रजिस्ट्रेशन कराएं और उसकी जानकारी पुलिस थाने में दें. प्रशासन ने ग्राम सचिवों को इस बात की हिदायत दी है कि इस काम में किसी तरह की लापरवाही होने पर उनके खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी.

शादी से पहले देनी होगी पुलिस को सूचना

वहीं अगर दलित वर्ग के विवाह समारोह या बारात निकलने को लेकर कोई घटना घटती है तो पंचायत सचिवों को लिखित या मौखिक रुप से इसकी सूचना थाने में देनी होगी. वहीं घटना का रजिस्ट्रेशन कर थाने के हेडकांस्टेबल से इसकी स्वीकृति लेनी होगी.

बता दें कि पिछले दिनों नागुदिया गांव में दलित दूल्हे की कथित रूप से बेइज्जती और बारात के दौरान घोड़े से उतारे जाने के मामले को प्रशासन ने गंभीरता से लिया है. जिसके बाद अब दलितों की शादी और बारात लेकर तीन दिन पहले प्रशासन और पुलिस को सूचित करना होगा. ऐसा करने से दलितों की शादी में होने वाले सवर्णों के अत्याचारों को रोका जा सकता है.

ये भी पढ़ें- कठुआ गैंगरेप केस: भाजपा ने जारी किया भड़काऊ वीडियो, क्राइम ब्रांच पर लगाए आरोप

First published: 5 May 2018, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी