Home » महाराष्ट्र न्यूज़ » Madhya pradesh: husband-and-wife funeral on at one time at morena
 

अजब प्रेम की गजब कहानी : पति-पत्नी की एक साथ निकली अर्थी, हाथ पकड़कर पहुंचे श्मशान

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 September 2018, 13:56 IST

एक अटूट प्रेम की एक ऐसी प्रेम कहानी सामने आई है. जिसको जानकार आपको एक बार को तो खुद पर भरोसा नहीं होगा कि आखिर ऐसा भी हो सकता है. यह दास्तां है एक पति पत्नी के साथ जीने-मरने की. जो 70 साल पहले शादी के बंधन में बंधे. जो जीवन के हर सुख दुख में साथ निभाते हैं. तीर्थ यात्रा साथ-साथ जाते और दुनिया को भी एक साथ ही अलविदा कहते हैं. यह कहानी है मध्यप्रदेश के मुरैना जिले की. जहां छोटेलाल शर्मा (90) व गंगादेवी (87) की एक साथ निधन हो गया. दोनों का एक साथ दुनिया को अलविदा कहना उनके परिवार के लिए एक बड़ा सदमा है. लेकिन दोनों के अटूट रिश्ते की पूरे इलाके में चर्चा हो रही है.

दरअसल, पोरसा कस्बे के रहने वाले छोटेलाल शर्मा (90) की शादी गंगादेवी (87) से 70 साल पहले हुई थी. शादी के दौरान गंगादेवी छोटेलाल से 3 साल छोटी थी. दोनों के चार बेटे व छह बेटियां हुईं. सभी बेटे बेटियों की शादी हो चुकी है. दोनों के नाती पोते भी हो चुके है. पूरा परिवार खुशहाल था. छोटेलाल व उनकी पत्नी गंगादेवी अपने छोटे नाती मायाराम के साथ रह रहे थे. शनिवार की शाम को 5 बजे के करीब छोटेलाल का निधन हो गया.

File Photo

नाती मायाराम ने गंगादेवी को पति छोटेलाल के निधन की जानकारी नहीं दी. इतना बताया था कि छोटेलाल की तबीयत खराब हो गई है. उनको इलाज के लिए अस्पताल ले जा रहे हैं. इतना सुनती ही गंगादेवी अचेत हो गईं. रविवार को छोटेलाल का अंतिम संस्कार करने का समय तय किया गया जिसके चलते गंगादेवी को पति के निधन की जानकारी नहीं दी गई थी. रविवार को को जब छोटेलाल का दाह संस्कार किया जा रहा था तो गंगादेवी को छोटेलाल की देह के पास लाया गया. पति की देह को देखकर गंगादेवी अचानक से अचेत हो गई.

वहां मौजूद महिलाओं ने गंगादेवी को संभालने की कोशिश की. इसके बाद छोटेलाल की अंतिम यात्रा को निकलने लगी. 15 मिनट के बाद ही गंगादेवी ने भी अपने प्राण त्याग दिए. जैसे ही गंगादेवी के निधन की जानकारी मायाराम व अन्य नातियों को पता चला तो तय किया गया कि दोनों का अंतिम संस्कार एक साथ किया जाएगा. परिवार के सदस्यों ने छोटेलाल व गंगादेवी को नागाजी मुक्तिधाम में एक ही शैया पर लिटाया और एक-दूसरे का हाथ थमाकर उन्हें मुखाग्नि दी.

ये भी पढ़ें- इस शख्स की कुंडली में लिखा था 'जेलयोग' तो पुलिस ने लॉकअप में कर दिया बंद

First published: 3 September 2018, 13:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी