Home » महाराष्ट्र न्यूज़ » Maharashtra: A team 200 rangers search operation for killer tigers in yavatmal may be soon end the operation
 

13 लोगों की जान ले चुकी बाघिन की तलाश में 200 रेंजर्स की टीम ने शुरू किया नया ऑपरेशन

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 October 2018, 12:20 IST
(file photo )

महाराष्ट्र के यावतमाल जिले के रालेगांव में आदमखोर बाघिन के आतंक से डर का माहौल है. आदमखोर बाघिन टी1 अब तक 13 से अधिक लोगों का शिकार बना चुकी है. वन विभाग की टीम पिछले 9 महीने से बाघिन की तलाश में लगीं हुई है लेकिन वन विभाग को सफलता नहीं मिल पायी है. बाघिन को तलाशने के लिए अब बड़े स्तर पर ऑपरेशन शुरू किया गया है.

इस ऑपरेशन में करीब 200 लोगों को लगाया गया है, जिनमें वन विभाग के अधिकारी भी शामिल हैं. ये नया ऑपरेशन 22 सितंबर से शुरू किया गया है. माना जा रहा है कि अब बाघिन की तलाश खत्म हो सकती है. जल्द ही बाघिन को पकड़ने में सफलता मिल सकती है.

मीडिया खबरों के मुताबिक, बाघिन की तलाश में चलाए जा रहे ऑपरेशन में मध्य प्रदेश वन्य जीव विशेषज्ञों की टीम भी शामिल है. मध्य प्रदेश वन्य जीव विशेषज्ञों की चार टीमें इस ऑपरेशन का हिस्सा हैं. ये दल हाथियों के साथ शामिल हुए हैं. इसके अलावा महाराष्ट्र मुख्य वन्य जीव संरक्षण प्रमुख (पीसीसीएफ) एके मिश्रा और एपीसीसीएफ सुनील लिमाए भी साइट पर हैं. पूरे ऑपरेशन पर बारीकी से नजर रखी जा रही है. महाराष्ट्र के वन मंत्री भी इस ऑपरेशन पर नजर रखे हुए हैं. उन्होंने बाघिन टी1 के पकड़े जाने तक अपना मुख्यालय पांढरकवडा में ही शिफ्ट करने का आदेश दिया है.

आपको बता दें सबसे पहले बाघिन टी 1 की हलचल के बारे में साल 2015 में पता चला था. इसके एक साल बाद 2016 में बाघिन ने लोगों को शिकार बनाना शुरू कर दिया. बाघिन एक के बाद एक 13 लोगों को अपना शिकार बना चुकी है. बाघिन के साथ एक नर टी2 भी इस इलाके में देखा गया था. लोगों को शिकार बनाने में एक नर टी2 भी इन हमलों में हिस्सेदार हो सकता है. ग्रामीणों ने बाघिन को मारने की मांग की थी लेकिन बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर बेंच ने इसकी मंजूरी नहीं दी. अब बाघिन को पकड़कर चिड़ियाघर भेजने की योजना है.

ये भी पढ़ें- विवेक तिवारी हत्याकांड: आरोपी कांस्टेबल ने कहा- क्या हमारी जिंदगी की कोई अहमियत नहीं?

First published: 2 October 2018, 12:20 IST
 
अगली कहानी