Home » महाराष्ट्र न्यूज़ » Maharashtra: AIMIM welcomed the Shiv Sena chief Uddhav Thackeray support to reservation for Muslims in education
 

शिवसेना ने की मुस्लिमों को आरक्षण देने की मांग, ओवैसी की पार्टी ने किया स्वागत

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 August 2018, 14:45 IST
(File photo )

शिवसेना के महाराष्ट्र में मुस्लिमों को शिक्षा के क्षेत्र में पांच फीसदी आरक्षण देने की मांग की है. शिवसेना के इस बयान का ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) ने स्वागत किया है. शिवसेना ने महाराष्ट्र में अपनी सहयोगी देवेंद्र फडणवीस सरकार का विरोध करते हुए कहा कि वो बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले की अवहेलना कर रही है.

शिनसेना चीफ उद्धव ठाकरे ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर कहा कि मराठा के साथ धांगड़, कोली, मुस्लिम और अन्य जातियों को भी आरक्षण दिया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी इस मामले में केंद्र और राज्य सरकार का समर्थन कर सकती है. मुस्लिमों के आरक्षण को लेकर बात करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि आरक्षण के अलावा भी मुस्लिमों की कोई और जायज मांग हैं तो उस पर भी विचार किया जाना चाहिए.

शिवसेना के इस बयान का AIMIM ने स्वागत किया है. AIMIM विधायक इंतियाज जलील ने कहा है कि यह सकारात्मक बात है. बीजेपी को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि उसके कुछ नेता अपने शब्दों और कृत्यों की वजह से मुस्लिमों को निशाना बनाते रहते हैं.

जलील ने कहा कि मुस्लिमों की पांच फीसदी आरक्षण की मांग का बॉम्बे हाईकोर्ट ने समर्थन किया है, जबकि मराठाओं को ओबीसी में शामिल करने की मांग को कोर्ट ने खारिज कर दिया था. हाईकोर्ट ने मुस्लिमों को पांच फीसदी आरक्षण देने का आदेश दिया था. हाईकोर्ट ने मुस्लिमों को शिक्षा में 5 फीसदी आरक्षण देने का समर्थन किया है. राज्य सरकार को हाईकोर्ट के आदेश का पालन करना चाहिए. ताकि मुस्लिमों युवाओं को भी हायर एजुकेशन मिल सके. उनके रहन सहन में बदलाव आ सके.
वहीं. बीजेपी के एक नेता का कहना है कि साल 2014 में कांग्रेस-एनसीपी की सरकार ने अध्यादेश लाकर मुस्लिमों के लिए नौकरियों में पांच फीसदी आरक्षण दिया था. लेकिन अध्यादेश 23 दिसंबर 2014 को समाप्त हो गया. कांग्रेस-एनसीपी की सरकार ने संकल्प को तोड़ दिया था.

ये भी पढ़ें- उरी हमले पर शिवसेना ने कहा- 'मोदी राज में कांग्रेस सरकार से भी बदतर हालात'

First published: 1 August 2018, 14:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी