Home » महाराष्ट्र न्यूज़ » Maharashtra: Governor recommends President's rule, waiting for President's approval
 

राष्ट्रपति शासन की ओर महाराष्ट्र, राज्यपाल ने की केंद्र से सिफारिश

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 November 2019, 17:30 IST

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश की है. राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाया जा सकता है. राज्य में पिछले महीने हुए विधानसभा चुनावों के बाद कोई भी राजनीतिक दल सरकार बनाने में सक्षम नहीं रहा है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार राजभवन ने होम मिनिस्ट्री को लिखा कि महाराष्ट्र में संविधान के मुताबिक सरकार गठन मुश्किल लग रहा है. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने संविधान के तहत सूबे में प्रेजिडेंट रूल की अनुशंसा की है.

इससे पहले राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शरद पवार के नेतृत्व वाली एनसीपी से पूछा कि क्या वह सरकार बना सकती है. एनसीपी को आज रात 8.30 बजे तक का समय दिया गया था. एनसीपी ने आरोप लगाया कि राज्यपाल ने उन्हें कम समय दिया. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार एनसीपी की मांग थी कि उन्हें सरकार बनाने के लिए तीन दिन का और समय दिया जाये.


इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार कोशियारी के पत्र के बाद महाराष्ट्र में राजनीतिक स्थिति पर चर्चा करने के लिए केंद्रीय मंत्रिमंडल जल्द ही बैठक कर रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 11वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए ब्राजील रवाना होने से पहले केंद्रीय कैबिनेट की बैठक कर रहे हैं. शिवसेना द्वारा विधायकों की संख्या राज्यपाल को सौंपने में विफल रहने के बाद कल शाम को कोशियारी ने एनसीपी को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया था.

इससे पहले दिन में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एनसीपी प्रमुख शरद पवार से बात की और पार्टी के तीन वरिष्ठ नेताओं को महाराष्ट्र में सरकार गठन के मुद्दे पर और बातचीत करने के लिए अधिकृत किया. कांग्रेस नेता अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे और केसी वेणुगोपाल एनसीपी प्रमुख शरद पवार के साथ चर्चा के लिए दिन में बाद में मुंबई के लिए रवाना किये गए थे.

महाराष्ट्र: सोनिया गांधी ने अहमद पटेल और खड़गे को शरद पवार से मिलने मुंबई भेजा

 

First published: 12 November 2019, 16:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी