Home » महाराष्ट्र न्यूज़ » Rebellion with uncle: Know who is the new Maharashtra Deputy CM Ajit Pawar
 

चाचा से बगावत : जानिए कौन हैं महाराष्ट्र के नए डिप्टी सीएम अजित पवार

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 November 2019, 15:08 IST

महाराष्ट्र में एनसीपी नेता और शरद पवार के भतीजे अजित पवार को देवेंद्र फडणवीस ने डिप्टी सीएम बनाया है. हालांकि शरद पवार का कहना है कि यह एनसीपी का फैसला नहीं है. शरद पवार के बड़े भाई अनंतराव के बेटे अजित  पवार ने अपने चाचा की तरह अपना करियर ग्राफ बनाया और उनकी महाराष्ट्र के सहकारी क्षेत्र पर एक मजबूत पकड़ मानी जाती है. एनसीपी के गठन के बाद से हमेशा से अटकलें लगाई जाती रही हैं कि शरद पवार के बाद पार्टी की कमान कौन संभालेगा.

मीडिया में खबरें आयी थी कि जब 2009 में शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले राजनीति में आयी तब खुद को एनसीपी प्रमुख का उत्तराधिकारी मानने वाले अजीत असुरक्षित महसूस कर रहे थे. हालांकि अजित ने इन ख़बरों को ख़ारिज किया था. इस्तीफ़ा देने के मामले में भी अजित पवार का पुराना रिकॉर्ड रहा है. 2012 में उन्होंने जल संसाधन मंत्री के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान सिंचाई परियोजनाओं में अनियमितताओं के आरोपों के कारण अपने सभी मंत्रिस्तरीय विभागों और उपमुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था. 

चव्हाण सरकार से एनसीपी के मंत्रियों के इस्तीफे के बाद संकट आ गई थी हालांकि चाचा शरद पवार ने स्थिति को संभाला. मीडिया में यह भी खबरें आयी थी कि शरद पवार द्वारा 2019 के लोकसभा चुनाव लड़ने से पीछे हटने का कारण यह था कि अजीत पवार मावल से अपने बेटे पार्थ को मैदान में उतारने की जिद कर रहे थे. सितंबर में अजीत पवार ने बारामती विधायक के रूप में इस्तीफा दे दिया था.

 

दावा किया गया था कि वह प्रवर्तन निदेशालय (ED) द्वारा महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक घोटाले के संबंध में अपने चाचा शरद पवार के नाम को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में शामिल करने से आहत थे. वह बाद में विधानसभा चुनाव में बारामती से जीत गए. हालही में शरद पवार के अलावा उनके भतीजे और पूर्व उपमुख्यमंत्री अजीत पवार सहित MSC बैंक के 70 अन्य अधिकारियों पर ईडी ने 25000 करोड़ का मनी लॉन्ड्रिंग केस दर्ज किया है.

महाराष्ट्र में सबसे बड़ा उलटफेर, फिर CM बने देवेंद्र फडणवीस, सोती रह गई शिवसेना

First published: 23 November 2019, 12:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी