Home » अन्य खेल » 20 Year Boxer Jyoti Pradhan Died During practice
 

पंचिंग बैग से प्रैक्टिस करने के दौरान बेहोश हुई 20 साल की युवा मुक्केबाज, हुई मौत

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 July 2019, 18:11 IST

नेशनल लेवल पर पश्चिम बंगाल का प्रतिनिधित्व कर चुकी 20 साल की युवा मुक्केबाज ज्योति प्रधान का निधन हो गया है. ज्योति अभ्यास के दौरान बेहोश हुई थी जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उन्हें मृत करार दे दिया गया. वहीं उनके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.

ज्योति जब बेहोश हुई थी उससे पहले उन्होंने एक साथी के साथ रिंग में थोड़ी देर मुक्केबाजी की प्रैक्टिस की थी और उसके बाद वो पंचिग बैग के साथ प्रैक्टिस करने लगी. क्लब से सदस्यों की माने तो इसके कुछ देर बाद वो अचानक बेहोश होकर गिर पड़ी जिसके बाद उन्हें मौजूद सदस्यों मे होश में लाने करी कोशिश की लेकिन जब वो इसमें नाकाम रही तो ज्योति को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया. ज्योति भवानीपुर बॉक्सिंग एसोसिएशन क्लब में प्रैक्टिस करती थी.

वहीं ज्योति को जब एसएसकेएम अस्पताल में ले जाया गया तब डाक्टरों नें पाया कि उनकी सांसे चल रही थी जिसके बाद उन्हें एमरजेंसी वॉर्ड में स्फिट किया गया लेकिन डॉक्टर जैसे ही उनका उपचार शुरू करते कार्डियक अरेस्ट आ गया और उनकी मृत्यु हो गई. वहीं उनकी मौैैत पर पुलिस ने स्वत: संज्ञान लेते हुए मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

वहीं पश्चिम बंगाल में राज्य मंत्री सोवनदब चट्टोपाध्याय ने कहा कि यह घटना बेदह विचित्र है. उन्होंने कहा कि इससे पहले पंचिंग बैग से प्रैक्टिस के दौरान किसी की मौत की खबर नहीं सुनी थी. सोवनदब चट्टोपाध्याय अपरने समय में खुद मुक्केबाज थे, उन्होंने कहा कि साथी के साथ प्रैक्टिस के करते हुए खिलाड़ियों के घायल होने की खबर सुनी थी लेकिन पंचिंग बैग के साथ किसी खिलाड़ी के मौत की खबर काफी हैरान करने वाली है.

ज्योति पश्चिम बंगाल के जोगेश चंद्र लॉ कालेज की छात्रा थी. ज्योति ने स्कूल के दिनों से ही मुक्केबाजी में अपना करियर बना लिया था. उन्होंने स्कूल के दिनों में ही नेशनल खेला था. वहीं ज्योति की मौत के बाद कई मुक्केबाज काफी हैरान है.

World Cup 2019: अंबाती रायडू के संन्यास लेने पर गौतम गंभीर ने सेलेक्टरों पर किया करारा हमला

First published: 4 July 2019, 18:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी