Home » अन्य खेल » Badminton Star PV Sindhu Announced Retirement
 

बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु ने 'संन्यास' का ऐलान कर फैंस को दिया 'धोखा', जानिए क्या है पूरा मामला

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 November 2020, 23:21 IST


ओलंपिक में भारत को रजत पदक दिलाने वाली पेशेवर बैडमिंटन चैंपियन पीवी सिंधु ने सोंमवार को अपने फैंस को एक 'धोखा दिया.' पीवी सिंधु ने अपने ट्विटर अकाउंट से एक लेख शेयर किया, जिसमें बड़े-बड़े अक्षरों में लिखा था, "आई रिटायर." पीवी सिंधु के इस निर्णय से खेल प्रेमियों को हैरानी हुई है. उनके इस फैसले से फैंस स्तब्ध हो गए हैं. पीवी सिंधु ने इस दौरान यह भी लिखा था कि डेनमार्क ओपन उनके करियर का आखिरी मुकाबला होगा. हालांकि, पूरा माजरा कुछ और ही था.

दरअसल, पीवी सिंधु ने अपने अकाउंट से एक लेख भी शेयर किया था, जिसमें कुछ और ही कहानी थी. उन्होंने लिखा था, "मैं काफ़ी वक़्त से अपनी भावना व्यक्त करने की सोच रही हूं. मैं मानती हूं कि मैं इन भावनाओं के साथ संघर्ष करती रही. लेकिन ये ग़लत है. इसलिए मैं आज आप सभी को लिख रही हूं कि बहुत हो चुका. मैं समझ सकती हूं कि आप हैरत में होंगे या कंफ्यूज़ होंगे लेकिन मेरी इस पोस्ट के आख़िर तक आप मेरे नज़रिए को समझ पाएंगे और मुझे उम्मीद है कि आप समर्थन भी करेंगे."


 

उन्होंने आगे लिखा, "इस महामारी ने मेरी आंखें खोल दी हैं. महीनों से हम घर में हैं और बाहर निकलने से पहले ख़ुद से पूछना पड़ता है. ख़ुद ये सब झेलते हुए और दूसरी दिल तोड़ देने वाली कहानियां पढ़ कर मैंने ख़ुद के और इस दुनिया के बारे में कई सवाल किए. डेनमार्क ओपन में भारत का प्रतिनिधित्व ना कर पाना आख़िरी दुख था. इसलिए आज मैं ख़ुद को इस बैचेनी से रिटायर करती हूं. नकारात्मक्ता से, डर से, अनिश्चितता से रिटायर करती हूं. मैं इस अनजान चीज़ के ऊपर कंट्रोल ना होने से ख़ुद को रिटायर करती हूं."

बताते चलें कि पीवी सिंधु का जन्म 5 जुलाई, 1995 को हैदराबाद में हुआ था. पीवी सिंधु के माता-पिता, राष्ट्रीय स्तर के वॉलीबॉल खिलाड़ी थे. सिंधु ने पिता पीवी रमाना ने 1986 के सियोल एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीता था. लेकिन सिंधु ने वॉलीबॉल में नहीं बल्कि बैंडमिटन में अपना करियर बनाया. सिंधु ने गोपीचंप को देखते हुए खेलना शुरू किया था और बाद में वो उनके कोच बने थे. अगले साल होने वाले टोक्यो ओलपिंक के लिए फैंस को उम्मीद है कि वो भारत को स्वर्ण पदक दिलाएंगी.

First published: 2 November 2020, 15:40 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी