Home » अन्य खेल » Berlin Olympics 1936 Major Dhyan Chand Adolf Hitler India vs Germany Final Match
 

जब हिटलर के सामने भारतीय खिलाड़ियों ने जर्मनी को चटाई थी धूल, देखती रह गई थी दुनिया

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 August 2020, 11:16 IST

हॉकी के जादुगर मेजर ध्यान चंद, जिन्होंने भारतीय हॉकी को एक ऐसे मुकाम पर पहुंचा और ऐसी कामयाबी दिलाई जो एक मिसाल बन गई. ध्यानचंद का ऐसा जादू था कि गेंद उनकी स्टिक से लगने के बाद करिश्मा करने लगती थी. मेजर ध्यान चंद हॉकी के महारथी तो थे ही उनमें देशभक्ति भी कूट-कूटकर भरी थी और साल 1936 में बर्लिन में हुए ओलंपिक खेलों में उन्होंने ना सिर्फ हिटलर को सैल्यूट करने से मना कर दिया था, बल्कि उल्टा जर्मनी के तानाशाह एडोल्फ हिटलर ने उनको सैल्यूट किया था. मेजर ध्यान चंद का जन्म 29 अगस्त 1905 को हुआ था और हॉकी में उनके योगदान को देखते हुए उनके सम्मान में आज के दिन को राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप (National Sports Day) में मनाया जाता है.

साल 1936 बर्लिन ओलंपिक

साल 1934 में भारतीय हॉकी टीम के कप्तान बनने के बाद मेजर ध्यानचंद ने 1936 के बर्लिन ओलंपिक में टीम की कप्तानी की था. बर्लिन ओलंपिक के लिए भारतीय हॉकी टीम के चयन के लिए भारतीय हॉकी संघ ने एक टूर्नामेंट का आयोजन किया और प्रमुख खिलाड़ियों की एक टीम बनाई था और टीम काफी मजबूत थी.  भारतीय टीम जिसमें अली दारा, अहमद खान और ध्यानचंद शामिल थे, उन्होंने  1936 ओलंपिक की शुरूआत में हुआ पहला अभ्यास मैच जर्मनी के खिलाफ खेला था और दुर्भाग्य से टीम को इस मैच में 1-4 से हार का सामना करना पड़ा था.

इस हार का प्रभाव इतना बड़ा था कि ध्यानचंद ने कहा था,"जब तक मैं जीवित हूं, मैं इस मैच को कभी नहीं भूलूंगा." हालांकि, इस हार के बाद टीम ने बाकी के मैचों में मैदान पर आग लगा दी. टीम ने हंगरी, अमेरिका और जापान को हराया और सेमीफाइनल में पहुंचा. दूसरी तरफ जर्मनी ने डेनमार्क, अफगानिस्तान और हॉलैंड को हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया था. सेमीफाइनल में भारत का सामना फ्रांस से हुआ था और टीम को इसमें जीत मिली.


इसके बाद फाइनल में उसका सामना जर्मनी से हुआ था. यह मैच 15 अगस्त को हुआ था और मैच के हॉफ टाइम तक भारत 1-0 से आगे था. कहा जाता है कि इसके बाद ध्यानचंद ने अपने जूते निकाले और फिर उन्होंने अपना जादू दिखाना शुरू किया. भारतीय टीम ने इस मैच में 8 गोल किए और जर्मनी एक गोल करने में सफल हो पाई. कहा जाता है कि इस मैच को देखनेे खुद उस वक्त का जर्मनी का तानाशाह हिटलर आया था. लेकिन जर्मनी से खराब प्रदर्शन को देखते हुए वो बीच मैच को छोड़कर ही वापस चला गया था

IPL 2020: नया शेड्यूल शनिवार को हो सकता है जारी, बीसीसीआई और ईसीबी कर रही लगातार बातचीत

First published: 29 August 2020, 11:01 IST
 
अगली कहानी