Home » अन्य खेल » Coronavirus Impact Wimbledon 2020 Cancelled
 

कोरोना वायरस का असर, दूसरे विश्व युद्ध के बाद पहली बार रद्द किया गया विंबलडन का आयोजन

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 April 2020, 22:21 IST

कोरोना वायरस के बढ़ते असर को देखते हुए एक के बाद एक खेल आयोजन या तो रद्द किए जा रहे हैं या फिर उन्हें स्थगित किया जा रहा है. इस वायरस के कारण अभी तक पूरे विश्व में 38 हजार से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके है. वहीं अब इस वायरस के कारण टेनिस का सबसे प्रतिष्ठित टूर्नामेंट और साल का तीसरा ग्रैंड स्लैम विंबलडन को रद्द करने का फैसला लिया गया है. विंबलडन के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब इसे किसी महामारी के कारण रद्द करने का फैसला लिया गया है.

बता दें, दिग्गजों खिलाड़ियों से सजा यह प्रतिष्ठित टूर्नामेंट 29 जून से शुरू होना था, जहां नोवाक जोकोविच और सिमोना हालेप को अपने एकल खिताब का बचाव करने के लिए उतरना था. पहले आयोजकों ने विंबलडन को खाली स्टेडियम में करवाने से इनकार कर दिया था. वहीं इस आयोजन के रद्द होने के बाद माना जा रहा है कि दिग्गज रोजर फेडरर, सेरेना विलियम्स और वीनस विलियम्स का करियर भी खत्म हो जाएगा.रोजर फेडरर, सेरेना विलियम्स अगले साल तक 40 साल के हो जाएंगे जबकि वीनस 41 वर्ष की हो जाएंगी.


विंबलडन के रद्द होने पर ऑल इंग्लैंड लॉन टेनिस क्लब ने एक बयान जारी किया है. अपने बयान में एईएलटीसी ने कहा,'हमें बड़े दुख के साथ बताना पड़ रहा है कि ऑल इंग्लैंड क्लब और प्रबंधन समिति ने यह फैसला किया है कि चैम्पियनशिप-2020 को इस साल रद्द किया जाता है जिसका कारण कोरोनावायरस है. 134वीं चैम्पियनशिप अब 28 जून से 11 जुलाई 2021 के बीच खेली जाएगी.' इस बयान में आगे कहा गया है,'इसके रद्द होने का परिणाम इससे जुड़े लोग, जिनमें खिलाड़ी भी शामिल हैं, पर क्या होगा, हमने इस बारे में सोच लिया है और इसके लिए हम रणनीति बना रहे हैं. यह लॉयल स्टाफ पर भी लागू होता है जिनके साथ हम जिम्मेदारी को गंभीरता से निभाते हैं.'

कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में सामने आए सौरव गांगुली, दान किए 2 हजार किलो चावल

First published: 1 April 2020, 22:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी