Home » अन्य खेल » EX Australian Cricketer Ashleigh barty won French open
 

इस पूर्व महिला क्रिकेटर ने बल्ला छोड़ा पकड़ा टेनिस रैकेट और 46 साल बाद देश को दिलाया फ्रेंच ओपन का खिताब

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 June 2019, 23:10 IST

आस्ट्रेलिया की एश्ले बार्टी ने फ्रेंच ओपन के महिला एकल वर्ग में चेक गणराज्य की माकेर्ता वोनड्रोउसोवा को सीधे सेटों में हराकर, अपने करियर का पहला ग्रैंड स्लैम खिताब जीत लिया है.

फिलिप चार्टर कोर्ट पर खेले गए मुकाबले में इस आठंवी वरीयता प्राप्त खिलाड़ी ने फाइनल मुकाबले में वोनड्रोउसोवा को 6-1, 6-3 से हरा दिया. दोनों के बीच यह मुकाबला एक घंटे 10 मिनट तक चला.

इस पूरे मुकाबले में आस्ट्रेलिया की एश्ले बार्टी चेक गणराज्य की माकेर्ता वोनड्रोउसोवा पर हावी रही. वहीं इस जीत के साथ ही अगले सप्ताह महिला टेनिस संघ की जो रैंकिग जारी होगी उसमें यह दूसरे नंबर पर आ जाएंगी. आस्ट्रेलिया ने साल 1973 के बाद से कभी भी फ्रेंच ओपन का खिताब नहीं जीता है.

World Cup 2019: जोफ्रा आर्चर ने इतनी रफ्तार से फेंकी गेंद की बेल्स पर लगकर बॉल गई छक्के के लिए, देखें Video

 

बता दें, आस्ट्रेलिया की एश्ले बार्टी साल 2015 और 2016 में बिग बैश लीग में खेल चुकी हैं. लेेकिन उन्होंने टेनिस में वापसी की और 46 साल बाद देश के लिए टेनिसा का दुनिया का दूसरा बड़ा खिताब कहे जाने वाले फ्रेंच ओपन को जीत लिया.एश्ले बार्टी ने महिला बिग बैश लीग में ब्रिसबेन हीट की तरफ से खेलते हुए अपने पदार्पन मैच में 27 गेदों का सामना करते हुए 39 रन बनाए थे.

एश्ले बार्टी ने बतौर टेनिस खिलाड़ी के रूप में अपने करियप की शुरूआत की थी लेकिन साल 2014 में वो यूएस ओपन के पहले दौर में बाहर हो गई थी जिसके बाद उन्होंने टेनिस से ब्रेक लेकर क्रिकेट का रूख किया था. 

क्रिकेट से वापस टेनिस की दुनिया में जाने के बाद इस खिलाड़ी ने फिर कभी पिछे मुड़कर नहीं देखा. एश्ले बार्टी इसी साल ऑस्ट्रेलियन ओपन के क्वार्टर फाइनल तक पहुंची थी, यह उनके करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था, लेकिन इस मुकाबले में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था.

World Cup 2019: इंग्लैंड की टीम ने किया वो कारनामा जो क्रिकेट इतिहास में नहीं कर पाई कोई दूसरी टीम

First published: 8 June 2019, 23:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी