Home » अन्य खेल » FIFA U-17 World Cup 2017,India vs Colombia: history, then heartbreak for India at jawahar lal nehru stadium in delhi
 

FIFA U-17 World Cup 2017: कोलंबिया से हारने के बावजूद भारत ने बना डाला इतिहास

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 October 2017, 10:50 IST

अंडर-17 फीफा विश्वकप में सोमवार को भारत ने अपने दूसरे लीग मैच में कोलंबिया से 2-1 से हार गया. दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में खेले गए ग्रुप-ए के मैच में हार के बावजूद भी भारत ने अपने शानदार खेल से सबका दिल जीत लिया.भारत के लिए विश्व कप का पहला गोल 82वें मिनट में जैक्सन सिंह थायुनाओजाम ने किया. पिछले मैच में अमेरिका के साथ संघर्ष कर रहे भारत ने कोलंबिया को कड़ी टक्कर दी.

कोलंबिया के लिए दोनों गोल जुयान सेबस्टियन पेनालोजा ने 49वें और 83वें मिनट में किए. सोमवार को भारतीय टीम का डिफेंस शानदार राह. उसने कोलंबिया जैसी मजबूत टीम को पहले हाफ की समाप्ति तक ज्यादा मौके नहीं दिए और अपने ऊपर हावी भी नहीं होने दिया. कोलंबिया ने जो दो मौके बनाए उन्हें भारतीय गोलकीपर धीरज सिंह ने बेहतरीन प्रदर्शन से नकार दिया. 

मेजबान टीम ने न सिर्फ कोलंबिया को रोका बल्कि कई बार उसकी सांसे अटका दीं. पहले हाफ में दो बार ऐसे मौके आए जब भारत गोल करने के करीब पहुंच गया था, लेकिन किस्मत को शायद ये मंजूर न था. 16वें मिनट में अभिजीत सरकार भारत के लिए विश्व कप में पहला गोल दागने से बेहद करीब आकर चूक गए. दो कोलंबियाई खिलाड़ियों को छकाते हुए अभिजीत ने सीधा शॉट गोलपोस्ट पर दागा, लेकिन विपक्षी गोलकीपर केविन मिएर ने शानदार बचाव करते हुए अभिजीत से यह सुनहरा मौका छीन लिया.

दूसरा मौका राहुल ने पहले हाफ के इंजुरी टाइम में बनाया. जैकसन ने कोलंबियाई खिलाड़ियों से बड़ी चतुराई से गेंद ली और गेंद को आगे बढ़ा दिया. गेंद राहुल के पास पहुंची जिन्होंने बेहतरीन शॉट खेला, लेकिन गेंद पोल से टकरा कर वापस आ गई और भारत के प्रशंसकों को निराशा हाथ लगी. 

दूसरे हाफ में आते ही कोलंबिया ने 1-0 की बढ़त ले ली. पेनालोजा ने भारत के बॉक्स एरिया से गेंद ली और पैरों की कलाबाजी दिखाते हुए अपने लिए जगह बनाई और फिर गोलपोस्ट के बाएं कोने में गेंद को डाल अपनी टीम का खाता खोला. हालांकि इसके बाद भी भारत ने हार नहीं मानी और न ही दबाव में आई. उसने प्रयास जारी रखे और कोलंबिया को बढ़त का ज्यादा फायदा नहीं उठाने दिया.

कोलंबिया बढ़त लेने के बाद भी ज्यादा मौके नहीं बना पाया. मैच खत्म होने में आठ मिनट का समय बाकी था तभी ऐसा हुआ जिसने स्टेडियम में मौैजूद दर्शकों को अपनी सीट से उठा दिया. जैक्सन ने विश्व कप में भारत के लिए पहला गोल मार दिया था और स्कोर लाइन ने 1-1 की बराबरी बता दी थी.  भारत को 82वें मिनट में कॉर्नर मिला. स्टालिन ने कॉर्नर लिया और जैक्सन ने मध्य से हेडर के जरिए गेंद को नेट में डाल दिया. स्टेडियम और पूरी टीम अपने पैरों पर खड़े होकर जश्न मना रही थी. 

मैच अब ड्रॉ के करीब लग रहा था, लेकिन अगले ही पल पेनालोजा ने गुस्टावो अडोलफो कारवाजाल की मदद से गेंद को एक बार फिर नेट में डाल अपनी टीम को 2-1 से आगे कर दिया.  मेजबान फिर भी हार मानने वाले नहीं थे. उन्होंने कुछ और मौके बनाए हालांकि गोल नहीं हो सका.

इस हार के बाद भारत का अंतिम-16 में जगह बनाने बेहद मुश्किल हो गया है. इसके लिए अब उसे अपने अगले मुकाबले में घाना को बड़े अंतर से हराना होगा और उम्मीद करनी होगी की अमेरिका, कोलंबिया को हरा दे. इसी शर्त पर वह नॉकआउट दौर में जगह बना सकता है. वहीं कोलंबिया ने भी अंतिम-16 की उम्मीदों को जिंदा रखा है. 

First published: 10 October 2017, 10:50 IST
 
अगली कहानी