Home » अन्य खेल » indian football team captain sunil chhetri says We will give our life on the field
 

ऐसे ही साथ मिला तो मैदान पर अपनी जान भी दे देंगे: सुनील छेत्री

न्यूज एजेंसी | Updated on: 5 June 2018, 19:01 IST

इंटरकोनटिनेंटल कप के पहले मैच में चीनी ताइपे के खिलाफ हुए मैच में खाली पड़े स्टेडियम से आहत भारतीय फुटबाल टीम के कप्तान सुनील छेत्री केन्या के खिलाफ स्टेडियम के खचाखच भरे होने से बेहद भावुक और उत्साहित हैं. पहले मैच में खाली स्टेडियम को देखने के बाद छेत्री ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी कर देश के लोगों से अपील की थी कि वह फुटबाल को भी प्यार और सम्मान दें तथा स्टेडियम में आकर मैच देखें चाहें वो स्टेडियम में आकर फुटबाल टीम को गालियां ही क्यों न दें.

छेत्री की इस अपील के बाद यहां का मुंबई फुटबाल एरेना सोमवार को खचाखच भरा था और दर्शक मैच खत्म होने के बाद तक भारतीय टीम के समर्थन में तालियां बजा रहे थे. इस मैच में भारत ने केन्या को 3-0 से मात दी थी. अपने करियर का 100वां मैच खेलते हुए दो गोल करने वाले छेत्री ने इसके बाद ट्विट कर लिखा है कि अगर टीम को स्टेडियम पर ऐसा ही समर्थन मिलता रहा तो खिलाड़ी मैदान पर अपनी जान तक दे देंगे.

छेत्री ने ट्विट किया, "हम वादा करते हैं कि जब भी हम देश के लिए खेलें और हमें इस तरह का समर्थन मिला, हम मैदान पर अपनी जान भी दे देंगे. भारत, यह रात मेरे लिए विशेष थी क्योंकि हम दोनों साथ थे. जो स्टेडियम में खड़े होकर हमारे समर्थन में चिल्ला रहे थे और जो घर पर बैठकर हमारे लिए दुआ कर रहे थे, उन सभी का शुक्रिया."

छेत्री की स्टेडियम भरने की भावुक अपील के बाद कई दिग्गज उनके समर्थन में उतर आए थे. भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली और क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने भी सोशल मीडिया पर वीडियो के माध्यम से छेत्री की अपील का समर्थन किया था और देश वासियों से स्टेडियम भरने की अपील की थी. इसके बाद स्टेडियम के सभी टिकटों के बिकने की खबर भी आई थी जो मैच के दिन हकीकत साबित हुई और तकरीबन 12,000 दर्शक स्टेडियम भारतीय टीम की हौसलाअफजाई के लिए पहुंचे थे.

ये भी पढ़ें: सुनील छेत्री की भावुक अपील को कोच ने बताया भीख

मैच के बाद छेत्री ने अपने सभी साथियों के साथ मैदान का चक्कर लगाया और हाथ जोड़कर लोगों को इस शानदार समर्थन के लिए धन्यवाद दिया. मैच खत्म होने के 10 मिनट बाद भी दर्शक अपनी जगह से हिले नहीं थे और खिलाड़ियों के लिए लगातार तालियां बजा रहे थे.

First published: 5 June 2018, 19:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी