Home » अन्य खेल » Lockdown Asian Games gold medallist Dingko Singh Delhi cancer treatment
 

लॉक डाउन के कारण कैंसर का इलाज कराने दिल्ली आने में असमर्थ हुआ यह पूर्व खिलाड़ी, पत्नी ने लगाई अब सरकार से मदद की गुहार

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 April 2020, 22:04 IST

पूर्व भारतीय मुक्केबाज डिंग्को सिंह (Former Indian boxer Dingko Singh), जिन्हें लीवर कैंसर (Liver cancer) है, को अपनी कीमोथेरेपी के लिए नई दिल्ली आना है लेकिन 3 मई कर लॉक डाउन (Lockdown) होने के कारण वो दिल्ली नहीं आ पा रहे हैं. बता दें, 41 डिंग्को सिंह ने साल 1998 में बैंकॉक में हुए एशियाई खेलों (1998 Asian Games) में भारत को स्वर्ण पदक दिलाया था.

डिंग्को सिंह लॉक डाउन से पहले 10 मार्च को दिल्ली के लीवर संस्थान से इंफाल गए थे, 25 मार्च को उन्हें वापस डॉक्टरों को दिखाना था लेकिन पीएम मोदी ने 24 मार्च को ही लॉक डाउन कर दिया था जिसके कारण यह खिलाड़ी आ नहीं पाया. डिंग्को सिंह की पत्नी बबाई देवी ने बताया कि उन्होंने 24 मार्च से 19 अप्रैल के बीच वे तीन बार दिल्ली के लिए प्लेन का टिकट करा चुकी हैं, लेकिन हर बार उनकी फ्लाइट रद्द हो गई. ऐसे में उन्होंने स्पोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया से मदद मांगी है.


इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए डिंग्को सिंह की पत्नी बबाई देवी ने कहा,'उसकी हालत गंभीर होने के कारण, उसे दिल्ली ले जाना बहुत जरूरी है, जहाँ पहले कई तरह के चेकअप किए गए थे और इलाज अभी भी लंबित था. हमने कम से कम 10-15 दिन पहले दिल्ली जाने की योजना बनाई थी, लेकिन देशव्यापी तालाबंदी के कारण हम यात्रा करने में असमर्थ हैं.'

उसने आगे कहा,'भारतीय खेल प्राधिकरण से सहायता मांगी है और उम्मीद है कि मदद मिलेगी. उन्होंने हमेशा बिना किसी समझौते के हमारी मदद की है. पिछली बार भी जब उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था, तो उन्होंने हमारी मदद की थी.'

डिंग्को सिंह पहली बार 1997 में सुर्खियों में आए, जब उन्होंने बैंकॉक में किंग्स कप में जीत दर्ज की. एक साल बाद उन्होंने बैंकाक में एशियन गेम्स में 54 किग्रा बैंटमवेट वर्ग में स्वर्ण पदक जीता. उसी वर्ष उन्हें अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया और 2013 में उन्हें पद्मश्री मिला. पूर्व में नौसेना के साथ, सिंह को पूरी पीढ़ी के मुक्केबाजों को प्रेरित करने का श्रेय दिया जाता है.

केएल राहुल ने विश्व कप के अपने बैट को नीलाम करने का लिया निर्णय, वजह जानकर आप भी करेंगे तारीफ

First published: 20 April 2020, 21:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी