Home » अन्य खेल » Manu Bhaker father Ramkishan bhaker is felling proud on Manu gold after winnig medal in shooting, his first cwg medal
 

CWG 2018: मुकाबले से पहले पिता की इस टिप्स ने दिलाया मनु को गोल्ड

न्यूज एजेंसी | Updated on: 9 April 2018, 19:04 IST

अपने पहले राष्ट्रमंडल खेलों में ही स्वर्ण जीतने वाली युवा महिला निशानेबाज मनु भाकेर के पिता अपनी 16 साल की बेटी की सफलता से बेहद खुश और गर्व महसूस कर रहे हैं. उनका कहना है कि उन्हें पता था कि मनु पदक लेकर आएगी क्योंकि वो कभी भी किसी भी टूर्नामेंट से खाली हाथ नहीं लौटी.

मनू ने आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में खेले जा रहे 21वें राष्ट्रमंडल खेलों की निशानेबाजी की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण पर कब्जा जमाया है. मनु के पिता ने बातचीत में कहा कि मनु के आने पर वो बहुत बड़े जश्न का आयोजन करेंगे.

अपनी बेटी की जीत से गौरवान्वित मनु के पिता राम किशन भाकेर ने कहा, "जीतने के बाद सब कहते हैं कि हमें उम्मीद थी लेकिन सच कहूं तो मनु कभी भी किसी भी टूनार्मेंट से खाली हाथ नहीं आई. चाहे वो नेशनल्स हो स्कूल का हो या कोई भी टूनार्मेंट हो. वो कभी भी खाली हाथ नहीं लौटी."

रामकिशन ने अपनी बेटी को हमेशा से खुलकर खेलने को कहा है. उन्होंने कहा, "जाने से पहले मैंने उससे कहा था कि खेल है हार - जीत होती रहती है. बस अच्छे से खेलना, खेल का आनंद लेना."

मनु के पिता ने एक दिन पहले ही अपनी बेटी से बात की थी. उनसे जब पूछा गया कि क्या इतने बड़े खेलों को लेकर मनु दबाव में थीं, तो उन्होंने कहा कि वो कभी भी दबाव नहीं लेती बस खेल का लुत्फ उठाती है.

"वो कभी दबाव नहीं लेती. इसका भी उस पर दबाव नहीं था. वो हमेशा मस्ती में खेलती है. वो किभी भी गेम का दबाव नहीं लेती. वो कहती है क्या हो गया हार गए तो हार गए, जीत गए तो जीत गए बस अच्छे से खेलना है. वो हर शॉट पर फोकस करती है न कि पूरे गेम पर. वो अगला शॉट बेहतर करने के इरादे से खेलती है."

मनु के आने पर उसके स्वागत के बारे में पूछे जाने पर उन्होनें कहा, "आने पर बहुत बड़ा जश्न होना है गोरिया गांव में यहां झज्जर गांव की लगभग हर पंचायत एवं गांव वाले होंगे. बहुत बड़ा जश्न होना है जिसमें काफी बड़े लोग आएंगे."

मनु ने पिछले महीने मैक्सिको में खेले गए आईएसएसएफ विश्व कप में महिलाओं की 10 मीटर पिस्टल स्पर्धा और 10 मीटर मिश्रित पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण जीत कर सनसनी मचा दी थी. तभी से उन्हें राष्ट्रमंडल खेलों में पदक की बड़ी दावेदार माना जा रहा था और मनु ने देश को निराश नहीं किया.

First published: 8 April 2018, 12:57 IST
 
अगली कहानी