Home » राजनीति » Aap crises- aap leader kumar vishvas today take decision on to stay in party.
 

सस्पेंस बरकरार, क्या AAP से टूटेगा कुमार का 'विश्वास'?

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 May 2017, 11:32 IST

पंजाब और एमसीडी चुनावों में हार के बाद आप की अंदरुनी कलह और गुटबाजी खुलकर सामने आ गई है. आप के संस्थापक सदस्यों में से एक कुमार विश्वास के पार्टी में बने रहने पर सस्पेंस खत्म नहीं हुआ है. पार्टी में बने रहने पर वो आज फैसला लेंगे. मंगलवार देर रात उन्हें मनाने का दौर चलता रहा. उनके बचपन के दोस्त मनीष सिसोदिया से लेकर खुद सीएम अरविंद केजरीवाल ने कुमार विश्वास से मुलाकात की. 

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल कुमार विश्वास से मिलने देर रात उनके घर पहुंचे और फिर कुमार विश्वास को कार से अपने साथ लेकर गए. कुमार विश्वास के घर के बाहर उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि कुमार आंदोलन के हमारे साथी हैं और उनकी नाराजगी को दूर किया जाएगा.

 

मीटिंग में विश्वास की पत्नी शामिल

बाद में कुमार विश्वास जब केजरीवाल के घर से निकले, तो वो बिना मीडिया से बातचीत किए निकल गए. इस पूरे घटनाक्रम में सबसे खास बात ये रही कि कुमार विश्वास के साथ उनकी पत्नी भी मीटिंग में मौजूद रहीं.

केजरीवाल के घर देर रात हुई इस बैठक में कुमार विश्वास के अलावा उनके दोस्त मनीष सिसोदिया, संजय सिंह, आशुतोष शामिल थे. जबकि थोड़ी देर बाद आप सरकार के मंत्री कपिल मिश्रा भी बैठक में शामिल हुए थे. कपिल मिश्रा पार्टी में कुमार विश्वास के करीबी माने जाते हैं. 

इमोशनल हुए कुमार विश्वास

दरअसल मंगलवार को शाम पांच बजे कुमार विश्वास ने मीडिया से बातचीत की. उन्होंने  इमोशनल होकर खुले तौर पर पार्टी के अंदर मतभेद की बात सामने रखी और अपने खिलाफ साजिश की बात कही.

दिल्ली के विधायक अमानतुल्लाह के आरोपों पर उन्होंने इतना कहा कि अगर ये बात उन्होंने केजरीवास या मनीष सिसोदिया के खिलाफ बोली होती तो उन्हें दस मिनट के अंदर बाहर कर दिया जाता. वीडियो को लेकर उन्होंने कहा कि वो आगे भी देश के हित में अपनी बात करते रहेंगे.

कुमार विश्वास के आरोपों का जवाब देने के लिए मनीष सिसोदिया ने भी उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया. पार्टी के हालात और ताजा घटनाओं से दुखी कुमार विश्वास ने अपने अगले कदम के लिए सोमवार रात की डेडलाइन फिक्स की थी. जिसके बाद तमाम आप नेता उन्हें मनाने उनके घर पहुंचे थे.

हालांकि बाद में पार्टी के कई नेता कुमार विश्वास के घर पहुंचे और फिर केजरीवाल भी पहुंचे और कुमार विश्वास को अपने साथ लेकर ये कहते हुए निकल पड़े कि मना लिया जाएगा. इसके बाद करीब एक घंटे तक कुमार विश्वास केजरीवाल के घर रहे और बाद में बिना कुछ बोले निकल पड़े. 

First published: 3 May 2017, 11:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी