Home » राजनीति » Delhi CM Arvind Kejriwal meets Najeeb Jung after his resignation from LG post
 

'जंग' का दर्द है 'खट्टा-मीठा'...

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 December 2016, 11:26 IST
(फाइल फोटो)

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और इस्तीफा देने वाले उपराज्यपाल नजीब जंग के बीच करीब दो साल के दौरान कभी अच्छे संबंध नहीं रहे. कभी केजरीवाल ने उन्हें पीएम मोदी का एजेंट कहा तो कभी बीजेपी की कठपुतली. इन सबके बीच अब जबकि नजीब जंग ने उपराज्यपाल का पद छोड़ दिया है, अरविंद केजरीवाल ने पुराने विवाद को दरकिनार करने की कोशिश की है.   

दिल्ली सरकार के अधिकारों के मुद्दे पर नजीब जंग और केजरीवाल हमेशा आमने-सामने रहे. आम आदमी पार्टी के नेता जंग पर हमले का कोई मौका चूकते नहीं थे. वहीं शुक्रवार सुबह दिल्ली के सीएम नजीब जंग के आवास पर उनसे मिलने के लिए पहुंचे. करीब आधे घंटे तक दोनों के बीच यह मुलाकात चली. 

केजरीवाल: पर्सनल वजह से दिया इस्तीफा

मुलाकात के बाद जब जंग से रिश्तों के बारे में केजरीवाल से सवाल पूछा गया, तो उन्होंने कहा, "खट्टा-मीठा तो जिंदगी में चलता रहा है. उन्होंने चाय पर बुलाया था, इसलिए आया था. उन्होंने इस्तीफा पर्सनल वजह से दिया है."

65 साल के नजीब जंग को यूपीए सरकार के कार्यकाल में 2013 में उपराज्यपाल बनाया गया था. बताया जा रहा है कि जंग ने निजी वजहों के चलते इस्तीफा दिया है. 

इससे पहले जंग के इस्तीफे पर अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया था, "श्री जंग का इस्तीफा मेरे लिए आश्चर्य की बात है. भविष्य की योजनाओं के लिए मेरी तरफ से उन्हें शुभकामनाएं."

वहीं दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने अपने ट्वीट में लिखा, "तमाम खट्टे-मीठे अनुभवों के बावजूद कह सकता हूं कि नजीब जंग साहब के साथ हमने मिलकर दिल्ली के लिए बहुत अच्छा काम किया. भविष्य के लिए शुभकामनाएं."

इसके अलावा आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के जल और पर्यटन मंत्री कपिल मिश्रा ने भी नजीब जंग को भविष्‍य के लिए शुभकामनाएं दी हैं. कपिल मिश्रा ने इसके साथ ही कहा कि कठपुतली की डोर जिसके हाथ में है उन्‍हें भी सद्बुधि मिले. जंग साहब के बाद भी यह जंग जारी रहेगी.

First published: 23 December 2016, 11:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी