Home » राजनीति » Akhilesh Yadav declared national president of Samajwadi Party for next five years in in Agra.
 

मुलायम की गैरमौजूदगी में अखिलेश फिर बने राष्ट्रीय अध्यक्ष

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 October 2017, 12:46 IST

अखिलेश यादव समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर दोबारा काबिज हो गए हैं. गुरुवार को आगरा में पार्टी के 10वें राष्ट्रीय सम्मेलन में उन्हें अगले पांच साल के लिए अध्यक्ष चुना गया. इस अधिवेशन में अखिलेश यादव के पिता मुलायम सिंह यादव नहीं पहुंचे थे.

मुलायम सिंह की गैरमौजूदगी में अखिलेश को भले ही अध्यक्ष बना दिया गया हो पर आने वाले दिनों में पार्टी में एक बार फिर से महासंग्राम होने की संभावना है. मुलायम के अलावा अखिलेश के चाचा और मुलायम के करीबी शिवपाल यादव भी इस ताजपोशी में शामिल नहीं हुए.

इस कार्यक्रम में सपा महासचिव आजम खान, रामगोपाल यादव, नरेश अग्रवाल, धर्मेंद्र यादव सहित पार्टी के वरिष्ठ नेता मंच पर मौजूद रहे. अखिलेश को समाजवादी पार्टी के नए संविधान के तहत पांच साल के अध्यक्ष चुना गया.

निर्वाचन अधिकारी एवं सपा के वरिष्ठ नेता रामगोपाल यादव ने अखिलेश के निर्विरोध निर्वाचन की औपचारिक घोषणा की. पहले तीन साल के लिए पार्टी का अध्यक्ष चुना जाता था जिसे बढ़ाकर पांच साल कर दिया गया है.

गौरतलब है कि यूपी विधानसभा चुनाव से ठीक पहले 1 जनवरी 2017 को लखनऊ में हुए राष्ट्रीय अधिवेशन में अखिलेश को मुलायम सिंह यादव के स्थान पर सपा का अध्यक्ष बनाया गया था. इसके बाद उनके नेतृत्व में पार्टी को बड़ी हार मिली थी.

ताजनगरी आगरा में आयोजित इस कार्यक्रम में देश भर के करीब 15 हजार सपा के प्रतिनिधियों के शामिल होने का दावा किया गया है. बुधवार की शाम को ही देश भर के सपा प्रतिनिधि आगरा पहुंच चुके थे. 

इससे पहले माना जा रहा था कि खुद को सपा के तमाम मामलों से अलग कर चुके मुलायम गत 25 सितंबर को लखनऊ में हुए संवाददाता सम्मेलन में अलग पार्टी या मोर्चे के गठन की घोषणा करेंगे, लेकिन उन्‍होंने ऐसा करने से इनकार कर शिवपाल खेमे को करारा झटका दिया था.

First published: 5 October 2017, 12:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी