Home » राजनीति » Amit Shah says, three years of Modi government is Golden Period
 

मोदी सरकार के 3 साल 'स्वर्णिम काल' : अमित शाह

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 August 2017, 9:16 IST

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि मोदी सरकार ने तीन साल में देश के प्रति न केवल दुनिया का नजरिया बदला है, बल्कि आम आदमी की जिंदगी में भी बदलाव लाया है.

यही कारण है कि जब भी राजनीतिक इतिहास लिखा जाएगा तो मोदी सरकार के तीन साल स्वर्ण अक्षरों में अंकित होंगे. भोपाल के तीन दिवसीय प्रवास पर आए शाह ने शनिवार को संवाददाताओं से चर्चा के दौरान कहा, "मोदी सरकार ने तीन वर्षो के कार्यकाल में गरीब महिलाओं, गरीबों, किसानो, जवानों के हित में महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं, पाकिस्तान पर सर्जिकल स्टाइक करके अपनी ताकत का एहसास कराया. देश की विकास दर तेजी से बढ़ रही है."

उन्होंने मध्यप्रदेश के दो मंत्रियों बाबूलाल गौर व सरताज सिंह को 75 वर्ष की आयु पूरी करने पर मंत्री पद से हटाए जाने को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा, "किसे मंत्री बनाना और नहीं बनाना है यह राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का अधिकार है, लेकिन पार्टी में न तो ऐसा नियम है और न ही परंपरा कि 75 वर्ष की आयु पार कर चुके लोगों को चुनाव नहीं लड़ने देना है, वे चुनाव लड़ सकते हैं."

पिछले दिनों पार्टी की बैठक में आगामी लोकसभा चुनाव के लिए 350 सीटों का लक्ष्य तय किए जाने की खबरों को नकारते हुए शाह ने कहा, "हमने मिशन 350 शुरू नहीं किया है, हम इससे आगे भी जाएंगे. हां हर सीट पर संगठन मजबूत करने का लक्ष्य जरूर तय किया है."

राममंदिर को लेकर पूछे गए सवाल पर शाह ने कहा, "राम मंदिर के मामले में हमारा दृष्टिकोण साफ है, जब से विवादित ढांचा गिरा है, तब से लेकर आज तक हमारे सभी घोषणा पत्र में कहा गया है कि वहां राम मंदिर बनना चाहिए. जब न्यायालय का फैसला आ जाएगा या आपसी सहमति बनेगी तभी राम मंदिर बनेगा."

जम्मू एवं कश्मीर से धारा 370 खत्म किए जाने के सवाल पर शाह ने कहा कि धारा 370 को लेकर अभी इस तरह का कोई प्रस्ताव नहीं है, अगर सभी दलों से चर्चा के बाद कोई सहमति बनती है तो देखेंगे.

शाह ने केंद्र सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा, "10 साल तक देश में घोटाले करने और पॉलिसी पैरालिसिस वाली सरकार रही है. बीते तीन वर्षो में मोदी सरकार ने गरीब, दलित, महिला, पिछड़ों सहित सभी वर्गो के लिए ऐतिहासिक फैसले लिए हैं. देश में साढ़े चार करोड़ शौचालयों का निर्माण हो चुका है. अभी शासन के तीन साल पूरे हुए हैं, दो साल और बाकी है."

उन्होंने आगे कहा कि मोदी सरकार आने के बाद प्रधानमंत्री पद और उसके कार्यालय की गरिमा बढ़ी है. साथ ही दुनिया का भारत को लेकर नजरिया भी बदला है. उन्होंने मध्य प्रदेश के संगठन और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की भी तारीफ की.

इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान, प्रदेश प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे भी मौजूद थे. शाह ने मुख्यमंत्री आवास पर साधु संतों से भी मुलाकात की. उन्होंने कहा, "भारतीय जनता पार्टी का देश में निरंतर जनाधार बढ़ने के साथ पार्टी की जिम्मेदारी भी बढ़ रही है. जनता के प्रति पार्टी को अपनी जिम्मेदारी का एहसास हो रहा है. संगठन के विस्तार के साथ विकास को गति देने का दायित्व भी हम पर आया है. इसके लिए सरकार और कार्यकर्ता मनोवेग के साथ जुटे हुए हैं."

उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ही ऐसा दल है जो सांस्कृतिक राष्ट्रवाद को लेकर आगे बढ़ा है. संस्कृति और परंपराओं को पुनस्र्थापित करने में शक्ति केंद्रित की है. शाह ने भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश सारंग द्वारा लिखी पुस्तक 'नरेंद्र से नरेंद्र' का एक भव्य समारोह में विमोचन किया. इससे पहले शाह ने विभिन्न मोर्चो के पदाधिकारियों की बैठक में उनकी कार्यशैली पर असंतोष जताया. वहीं कलियासोत क्षेत्र में पौधा भी रोपा.

First published: 20 August 2017, 9:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी