Home » राजनीति » arun jaitley defamation case: Ram jethmalani quit the case of arvind kejriwal.
 

जेटली मानहानि केस: रामजेठमलानी ने केजरीवाल को बताया झूठा

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 July 2017, 17:16 IST

देश के वरिष्ठ वकील रामजेठमलानी ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा है. उन्होंने अरविंद केजरीवाल को झूठा बताया. उन्होंने कहा कि मैंने बिना उनके कहे उनका मुकदमा नहीं लड़ा और अदालत में जो कुछ भी कहा वो उनके कहने के अनुसार ही था. 

राम जेठमलानी ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा, "फीस नहीं देंगे तो कोई बात नहीं, मैं हजारों लोगों के लिए फ्री में काम करता हूं." इतना ही जेठमलानी ने ये भी कहा कि केजरीवाल झूठ बोल रहे हैं, मैंने बिना उनके कहे उनका मुकदमा नहीं लड़ा. 

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने दिल्ली के मुख्यमंत्री पर आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए 10 करोड़ रुपये का मानहानि का केस किया है. इस मामले में जेठमलानी दिल्ली के सीएम केजरीवाल की पैरवी कर रहे थे.

17 मई 2017 को सुनवाई के दौरान केजरीवाल की पैरवी करते हुए राम जेठमलानी ने अरुण जेटली के लिए CROOK (बदमाश) शब्द का प्रयोग किया था. इस पर जेटली ने पूछा, "क्या सीएम केजरीवाल ने आपको मेरे लिए ऐसे शब्द का प्रयोग करने को कहा है?"

जेठमलानी की इस टिप्पणी के बाद जेटली ने दूसरा मानहानि का केस केजरीवाल पर कर दिया था. जेटली के वकील माणिक डोगरा ने याचिका दायर कर अदालत को बताया है कि उनके मुवक्किल ने पहले ही दीवानी मानहानि का मामला दायर कर केजरीवाल व अन्य पांच आप नेताओं संजय सिंह, राघव चडढा, कुमार विश्वास, आशुतोष, व दीपक वाजपेयी से 10 करोड़ रुपये की क्षतिपूर्ति दिलवाने की मांग की हुई है.

इन सभी लोगों ने जेटली पर दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) में वित्तीय अनियमितताओं का आरोप लगाया था. वर्ष 2000 से 2013 तक जेटली डीडीसीए के अध्यक्ष थे.

First published: 26 July 2017, 17:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी