Home » राजनीति » Arun Shourie publicised says indian Army's surgical strike against pakistan was farzical strike during Saifuddin soz book launch
 

मोदी सरकार पर अरूण शौरी का बड़ा हमला, सर्जिकल स्ट्राइक को बताया 'फर्जिकल स्ट्राइक'

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 June 2018, 9:16 IST

पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता अरुण शौरी ने एक बार फिर से मोदी सरकार को आड़े हाथ लिया है. एक किताब के विमोचन में पहुंचे अरुण शौरी ने इस बार केंद्र सरकार पर सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर हमला बोला है और एक करारा तंज भी कसा है. अरुण शौरी ने सर्जिकल स्ट्राइक को 'फर्जिकल' स्ट्राइक बताया है.

अरुण शौरी ने कहा है कि काम भारतीय सेना करती है लेकिन सरकार अपनी पीठ थपथपाती है. इस दौरान अरुण शौरी ने ये भी कहा कि मोदी सरकार के पास कश्मीर और पाकिस्तान को लेकर कोई नीति नहीं है. पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कश्मीर के लोगों को 'विक्टिम कार्ड' खेलना बन्द करना होगा.

अरुण शौरी ने सैफुद्दीन सोज को निशाने पर लेने वाले लोगों को नसीहत देते हुए कहा कि सोज समस्या नहीं है, वो एक समस्या को उजागर कर रहे हैं. बता दें कि वाजपेयी सरकार में मंत्री रहे अरुण शौरी कांग्रेस नेता सैफुद्दीन सोज की कश्मीर पर लिखी गई बुक ‘गलीम्प्सेज ऑफ हिस्ट्री एन्ड द स्टोरी ऑफ स्ट्रगल’ के लॉन्चिंग कार्यक्रम में पहुंचे थे.

इस किताब की लॉन्चिंग के दौरान अरुण शौरी ने जमकर मोदी सरकार पर भड़ास निकाली. उन्होंने मोदी सरकार को नीति विहीन करार दिया. अरुण शौरी ने कहा कि केंद्र सरकार के पास न तो पाकिस्तान, न चीन और ना ही कश्मीर को लेकर कोई नीति है. उन्होंने आगे कहा कि 'फर्जिकल’ स्ट्राइक शब्द का प्रयोग मैंने सेना के लिए नहीं बल्कि सरकार के लिए किया है.

शौरी ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक से भी कश्मीर में पनपी स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया. इतना ही नहीं जब अरुण शौरी से ये पूछा गया कि सर्जिकल स्ट्राइक का दावा सेना ने खुद किया था और इस बयान से सेना का अपमान हुआ है तो शौरी ने पत्रकारों को भी गधा बता दिया और फिर गुस्से में निकल गए.

ये भी पढ़ेंः कांग्रेस के सीनियर नेता सैफुद्दीन सोज ने कश्मीर को आजाद करने की मुशर्रफ की मांग का किया समर्थन

आपको बता दें, सैफुद्दीन सोज पूर्व केंद्रीय मंत्री और जम्मू कश्मीर से ताल्लुक रखने वाले वरिष्ठ कांग्रेस नेता हैं. उनकी बुक ‘गलीम्प्सेज ऑफ हिस्ट्री एन्ड द स्टोरी ऑफ स्ट्रगल’ लॉन्चिंग के मौके पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम भी नहीं आए.

दरअसल, अपनी किताब ‘गलीम्प्सेज ऑफ हिस्ट्री एन्ड द स्टोरी ऑफ स्ट्रगल’ के आने से ठीक पहले सोज ने कश्मीर की आजादी और पाकिस्तान के पूर्व सैनिक तानाशाह परवेज मुशर्रफ की तरफदारी वाले बयान दे कर बड़ा विवाद खड़ा कर दिया था. इस कारण सोज के बुक लॉन्च चर्चा में आ गई.

हालांकि, सैफुद्दीन सोज ने कहा, "ये मेरी किताब है, कांग्रेस इसके लिए जिम्मेदार नहीं है. मैंने काफी रिसर्च के बाद किताब लिखी है. मीडिया ने मेरी बातों को गलत तरीके से पेश किया." बाद में मीडिया से बात करते हुए सैफुद्दीन सोज ने मुशर्रफ को लेकर उठे विवाद पर कहा कि मुशर्रफ की कोई अहमियत नहीं है.

First published: 26 June 2018, 9:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी