Home » राजनीति » Arvind Kejriwal: EC is working like Dhritarashtra for its son Duryodhan
 

'चुनाव आयोग धृतराष्ट्र बनकर अपने बेटे दुर्योधन को किसी तरह जिताना चाहता है'

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 April 2017, 13:10 IST
(एएनआई)

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में गड़बड़ी के आरोपों पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लगातार चुनाव आयोग को निशाने पर लिया है. केजरीवाल ने एक बार फिर ईवीएम को लेकर चुनाव आयोग पर बड़ा हमला बोला है.

दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान केजरीवाल ने कहा, "धौलपुर में 200 में 18 ईवीएम में खराबी है, लेकिन चुनाव आयोग इसकी जांच नहीं करवा रहा है. चुनाव आयोग धृतराष्ट्र बन गया है जो अपने बेटे दुर्योधन को साम, दाम, दंड, भेद करके सत्ता में पहुंचाना चाहता है." 

केजरीवाल ने ट्वीट किया, "चुनाव आयोग इन मशीनों की टेक्निकल जांच क्यों नहीं कराता? केवल मशीन क्यों बदल देता है? ऐसे में चुनाव का क्या मतलब?"

 

केजरीवाल ने कहा कि बटन कोई भी दबाओ लेकिन वोट बीजेपी को ही जा रहा है. केजरीवाल ने आरोप लगाया है कि ईवीएम का सॉफ्टवेयर और प्रोगामिंग, कोड बदला गया है.

केजरीवाल ने भिंड उपचुनाव के दौरान गड़बड़ी का भी जिक्र किया. साथ ही केजरीवाल ने कहा, "10 प्रतिशत मशीनों में गड़बड़ी है. सिर्फ ईवीएम बदलने से हल नहीं निकलेगा. नये सॉफ्टवेयर से ऐसी गड़बड़ी हो रही है. बटन दबाने पर लाइट तो जलती है, लेकिन पर्ची बीजेपी की निकल रही है."

केजरीवाल बोले कि दिल्ली में होने वाली एमसीडी चुनावों में मशीन राजस्थान से आ रही है, जबकि दिल्ली में लगभग 15 हजार मशीन उपलब्ध हैं. 2006 से 2013 तक की मशीनों का इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है, बहाने बनाकर 2006 से पहले की मशीन का इस्तेमाल हो रहा है. केजरीवाल बोले कि बीजेपी की जीत घोषित कर दो, लोग सड़क पर उतरेंगे.

गौरतलब है कि ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगाकर आम आदमी पार्टी ने दिल्ली एमसीडी के चुनाव ईवीएम के बजाए बैलट पेपर से कराने की मांग की थी. हालांकि चुनाव आयोग ने इसे खारिज कर दिया था.

वहीं यूपी में विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने ईवीएम पर सवाल उठाए थे. मायावती ने नतीजों को रद्द घोषित करने की मांग की थी. साथ ही दोबारा बैलट पेपर के जरिए चुनाव कराए जाने की अपील की थी. मायावती ने कहा था कि बीजेपी ने लोकतंत्र की हत्या करके यूपी में जीत हासिल की है.

First published: 10 April 2017, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी