Home » राजनीति » Baba Ramdev: If our soldiers fight without food, why not us
 

बाबा रामदेव: जब देश के लिए सैनिक कई दिनों तक भूखे रह सकते हैं तो हम क्यों नहीं?

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 November 2016, 16:13 IST
(एजेंसी)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 500 और 1000 रुपये की नोटबंदी का स्वागत करते हुए योगगुरु बाबा रामदेव ने रविवार को कहा कि अगर हमारे जवान सीमा पर जंग लड़ते हुए कई दिनों तक बिना खाना खाए रह सकते हैं, तो जो लोग पैसे निकालने के लिए बैंकों के बाहर खड़े हैं वो ऐसे क्यों नहीं कर सकते?

समाचार एजेंसी एएनआई से योगगुरु रामदेव ने कहा, "युद्ध के दौरान हमारे जवान 7-8 दिन तक बिना खाना खाए रहते हैं तो क्या हम हमारे देश के लिए ऐसा नहीं कर सकते?"

इससे पहले उन्होंने कहा था कि पीएम मोदी के इस कदम से आतंकवाद, नक्सलवाद और गैर-कानूनी धंधों पर रोक लगाने में मदद मिलेगी.

रामदेव ने कहा था, "पूरा देश कालाधन, भ्रष्टाचार, गैरकानूनी धंधों पर रोक लगाने के फैसले के लिए पीएम मोदी को बधाई दे रहा है."

बाबा रामदेव ने गुरुवार को जयपुर में कहा था "नरेन्द्र मोदी प्रथम प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने इतना बड़ा और साहसी कदम उठाया है."

उन्होंने आगे कहा, "इस कदम के दूरगामी परिणाम निकलेंगे. नरेंद्र मोदी के गुजरात के मुख्यमंत्री कार्यकाल के दौरान मैं गुजरात गया था. उस वक्त मैंने भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए 500 और 1000 रुपये का नोट बंद करने का सुझाव दिया था, लेकिन उस वक्त उनके पास शक्ति नहीं थी जब अधिकार मिला तो उन्होंने साहस भरा निर्णय लिया. प्रधानमंत्री के इस निर्णय से नक्सलवाद और अपराधों पर अंकुश लगेगा."

गौरतलब है कि शनिवार को मध्यप्रदेश के छतरपुर में पैसा न होने और भूखे होने की वजह से स्थानीय लोगों ने एक राशन की दुकान को केवल इसलिए लूट लिया, क्योंकि उसके मालिक ने 500 और 1000 रुपए के नोट लेने से मना कर दिया.

First published: 13 November 2016, 16:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी