Home » राजनीति » Babri Masjid Case: Twitter trends after Supreme Court verdict against Advani and Joshi
 

सोशल: 'आडवाणी के ख़िलाफ़ मुकदमे से 2019 में होगा ध्रुवीकरण'

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 April 2017, 17:32 IST

बाबरी मस्जिद मामले में भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ट्विटर पर कई दिलचस्प प्रतिक्रियाएं देखने को मिल रही हैं. सुप्रीम कोर्ट ने भाजपा और वीएचपी के 13 नेताओं के खिलाफ आपराधिक साजिश का मुकदमा चलाने का आदेश दिया है. कल्याण सिंह को राज्यपाल होने की वजह से छूट दी गई है. 

सोशल मीडिया पर सुबह से ही ये मुद्दा ट्रेंड करता दिखा. ट्विटर यूजर मिनहाज मर्चेंट ने लिखा, "बाबरी मस्जिद पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर जश्न मनाने वाली कांग्रेस मूर्ख है. दो साल तक समयबद्ध तरीके से आडवाणी के खिलाफ इस मामले के मुकदमे और फैसले से 2019 के लोकसभा चुनाव में ध्रुवीकरण होगा."

वरिष्ठ टीवी पत्रकार सुमित अवस्थी ने हैशटैग बाबरी_का_जिन्न नाम से ट्वीट किया, "अगले दो साल तक लगातार सुनवाई होगी यानी मई 2019 तक! अगले आम चुनाव भी तभी होने हैं। कुछ समझे आप?! अब देश में क्या होने वाला है." 

इसके अलावा ट्विटर पर कुछ और प्रतिक्रियाएं इस तरह आई हैं. इमरान सोलंकी ने ट्वीट किया, "छह दिसंबर 1992 भारतीय लोकतंत्र के इतिहास का काला और शर्मनाक दिन था. ये उस दिन के तौर पर हमेशा याद रखा जाएगा, जब इस देश में कानून को ढहाया गया था."

First published: 19 April 2017, 17:18 IST
 
अगली कहानी