Home » राजनीति » Jan Akrosh Diwas: Nation wide protest of oppostion against Modi Govt's demonetization decision
 

नोटबंदी के ख़िलाफ़ भारत बंद पर बंटा विपक्ष, जानिए 10 बड़ी बातें

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 November 2016, 9:20 IST
(ट्विटर)

500 और 1000 के पुराने नोटों को बंद करने के मोदी सरकार के फैसले के खिलाफ विपक्ष खासकर वाम दलों ने भारत बंद बुलाया है. इस बंद को कई ट्रेड यूनियन भी अपना समर्थन दे रहे हैं.

आठ नवंबर को पीएम नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में मध्यरात्रि के बाद से नोटबंदी का एलान किया था. उसके बाद से विपक्ष ने जहां एक और संसद के शीतकालीन सत्र की कार्यवाही को अब तक नहीं चलने दिया है, वहीं सड़क पर भी वो सरकार को घेरने में जुटा है.

इलाहाबाद में सपा कार्यकर्ताओं ने जबकि बिहार के दरभंगा में सीपीआई माले के कार्यकर्ताओं ने रेल यातायात को बाधित करने की कोशिश की है. वामदलों के भारत बंद और बाकी विपक्ष के आक्रोश दिवस से जुड़ी 10 बड़ी बातें:

ट्विटर

भारत बंद और जन आक्रोश दिवस

1. वाम दलों ने कुछ राज्यों में बंद बुलाया है. जिसकी मियाद 12 घंटे की है. सुबह छह बजे शुरू लेफ्ट का भारत बंद शाम को 6 बजे खत्म हो रहा है. वाम मोर्चे की ओर से मुख्य रूप से केरल, पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा में भारत बंद बुलाया गया है. 

2. कांग्रेस से लेकर तृणमूल कांग्रेस, बसपा और जेडीयू समेत ज़्यादातर विपक्षी दल भारत बंद का हिस्सा नहीं है.

3. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने साफ किया है कि हमने भारत बंद नहीं बुलाया है, क्योंकि इससे लोगों को दिक्कत होती है. कांग्रेस इसे जन आक्रोश दिवस का नाम दे रही है.

4. दिल्ली में भी कई मजदूर संगठन इस बंद के समर्थन में हैं. बताया जा रहा है कि 10 ट्रेड यूनियन बंद को अपना समर्थन दे रहे हैं. 

5. बिहार में नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू विरोध प्रदर्शन का हिस्सा नहीं है. नीतीश ने 500 और 1000 रुपये के नोट बंद करने के फैसले का समर्थन किया है.

6. नोटबंदी के खिलाफ कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और आम आदमी पार्टी भारत बंद का हिस्सा नहीं हैं, लेकिन वह देशव्यापी विरोध प्रदर्शन में शामिल हैं.

7. यूपी में सत्ताधारी समाजवादी पार्टी का कहना है कि राज्य में उसकी सरकार है, ऐसे में बंद से रेल और सड़क यातायात के साथ ही कानून व्यवस्था की समस्या होगी, लिहाजा वे लोगों की असुविधा का ख्याल रखते हुए प्रदर्शन में शामिल हैं.

8. उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राज बब्बर आक्रोश मार्च का नेतृत्व कर रहे हैं. हालांकि पार्टी दुकानों को बंद कराने और जबरन चक्काजाम के खिलाफ है. 

9. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी देश भर में नोटबंदी के खिलाफ लामबंदी तेज करते हुए आज शाम लखनऊ पहुंच रही हैं. यहां मंगलवार को वह धरना देने वाली हैं.

10. बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी नोटबंदी के खिलाफ संसद में आवाज बुलंद की है. हालांकि बसपा खुलकर भारत बंद के समर्थन में नहीं दिख रही है. दिल्ली में आम आदमी पार्टी सेंट्रल पार्क में विरोध प्रदर्शन कर रही है.

कांग्रेस ने नोटबंदी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन को जन आक्रोश दिवस का नाम दिया है. (एएनआई)
First published: 28 November 2016, 9:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी