Home » राजनीति » BJP leader and ex central minister janardan reddy arrested for Ponji investment scam by central crime branch
 

बीजेपी के बड़े नेता और पूर्व मंत्री गिरफ्तार, मनी लॉन्ड्रिंग घोटाले में हुई कार्रवाई

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 November 2018, 16:02 IST

600 करोड़ रूपये के पोंजी इन्वेस्टमेंट घोटाला केस में भारतीय जनता पार्टी के नेता और पूर्व राज्य मंत्री जनार्दन रेड्डी को सेंट्रल क्राइम ब्रांच (केंद्रीय अपराध शाखा) ने गिरफ्तार कर लिया है. रेड्डी पर मनी लॉन्डरिंग और मुख्य आरोपी की पैसों के गैर कानूनी वित्तीय लेन-देन में मदद करने का संगीन आरोप है. रेड्डी के अलावा उनके सहयोगी महफूज अली खान को भी हिरासत में लिया गया है. इससे पहले रेड्डी ने भेदभाव का आरोप लगाकर केस के जांच अधिकारी डेप्युटी कमिश्नर ऑफ पुलिस (DCP) एस गिरीश को हटाने की अपील की थी.

जनार्दन रेड्डी शनिवार को सेंट्रल एजेंसी के सामने पेश हुए थे. क्राइम ब्रांच पहले से ही रेड्डी को गिरफ्तार करने के लिए पहले से पूरी तैयारी कर रखी थी. ख़बरों की मानें तो उन्हें गिरफ्तार करने के लिए पर्याप्त सबूत जुटाए गए थे. क्राइम ब्रांच के कमिश्नर आलोक कुमार ने बताया है कि विश्वासपूर्ण सबूतों और गवाहों के बयानों के आधार पर ही रेड्डी की गिरफ्तारी की गई है. रेड्डी को विशेष अदालत में पेश किया जाएगा और पैसे की रिकवरी कर निवेशकों / इन्वेस्टर्स को दिए जाएंगे.

क्राइम ब्रांच ने अपनी जांच में पाया था कि रेड्डी और महफूज अली खान ने ऐंबिडेंट मार्केटिंग से 18 करोड़ रुपए की कीमत का 57 किलो सोना लिया. यह सोना ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) के अधिकारियों से ऐंबिडेंट के प्रमोटर सैयद अहमद फरीद को 'छूट' देने के बदले लिया गया था.

गिरीश को हटाने की मांग पर वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का मानना है कि गिरीश के निष्पक्ष जांच और उनके कार्यवाई से वे घबराए हुए हैं. महकमे के अधिकारियों का मानना है कि गिरीश सतर्कता से जांच करने और त्वरित एक्शन के लिए जानें जाते हैं.' गिरीश ने पिछले 10 साल में कई बड़ी करवाई की है और नेताओं को गिरफ्तार किया है, सितंबर 2011 में उन्होंने पूर्व सीएम बीएस येदियुरप्पा और उनके दामाद के घर और ऑफिस में छापा मारा था.

First published: 11 November 2018, 16:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी