Home » राजनीति » bjp leader Jeevraj says Writing against RSS is the main reason of Gauri Lankesh shot dead.
 

गौरी लंकेश की हत्या पर बोले भाजपा नेता, 'RSS के खिलाफ नहीं लिखती तो जीवित होती'

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 September 2017, 13:12 IST

वरिष्ठ महिला पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के बाद उनकी मौत पर राजनीति शुरू हो गयी है. सत्ता पक्ष और विपक्ष इस हत्या के एक दूसरे को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. कर्नाटक के एक भाजपा नेता ने गौरी लंकेश की हत्या को लेकर एक विवादित बयान दिया है.

भाजपा नेता जीवराज ने कहा कि, गौरी गौरी लंकेश अगर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(आरएसएस)  के लोगों की मौत के जश्न के बारे में ना लिखती तो शायद आज जिंदा होतीं. चिकमंगलुरु में बीजेपी कार्यकर्ताओं के एक कार्यक्रम में विधायक ने ये बातें कहीं. 

जीवराज ने कहा कि, 'कांग्रेस की सरकार के कार्यकाल में कई आरएसएस कार्यकर्ताओं ने जान गंवाई है. अगर गौरी लंकेश ने आरएसएस के खिलाफ नहीं लिखा होता तो वह ज़िंदा होतीं. गौरी मेरी बहन जैसी हैं लेकिन जिस तरह उन्होंने हमारे खिलाफ़ लिखा, वो स्वीकार नहीं किया जा सकता है.'

दरअसल कर्नाटक के अलग-अलग हिस्सों से आए पार्टी कार्यकर्ताओं की मंगलुरु में बाइक रैली पर पुलिस ने रोक लगाई थी जिसके बाद जीवराज कार्यकर्ताओं की बैठक में ये बयान दिया.

गौरतलब है कि गौरी लंकेश (55) पर मंगलवार को तीन अज्ञात हमलावरों ने सात गोलियां दागी थीं और उनकी मौत हो गई थी. लंकेश अपने कार्यालय से घर लौटी थीं. लंकेश के सीने में दो गोलियां और एक गोली माथे पर लगी थी.

गौरी लंकेश लोकप्रिय कन्नड़ टेबलॉयड 'गौरी लंकेश पत्रिके' की संपादक थीं. लंकेश की नृशंस हत्या के अगले दिन पत्रकारों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, लेखकों, विचारकों, महिला संगठनों व दूसरे लोगों ने देश भर में एकजुट होकर निंदा की. 

First published: 8 September 2017, 13:12 IST
 
अगली कहानी