Home » राजनीति » bjp sambit patra blame on congress for bhima koregaon violencein pune
 

BJP का आरोप- कांग्रेस ने माओवादियों के साथ मिलकर रची थी भीमा कोरेगांव हिंसा की साजिश

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 June 2018, 17:52 IST

भीमा-कोरेगांव हिंसा को लेकर एक बार फिर से राजनीति शुरू हो गई है. बीजेपी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर आरोप लगाते हुए कहा है कि कांग्रेस देश में कांग्रेस देश में अराजकता फैलाकर सत्ता हासिल करना चाहती है. वह पीएम नरेंद्र मोदी को रोकने के लिए माओवादियों की मदद ले रही है. इसके लिए कांग्रेस माओवादियों आर्थिक मदद कर रही है.

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने पार्टी मुख्यालय में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता प्रतिबंधित संगठन से जुड़े हैं. कांग्रेस की ओर से माओवादियों की मदद के लिए आर्थिक सहायता दी जा रही है. ऐसा करने के पीछे कांग्रेस की रणनीति पीएम मोदी को रोकना है.

इस दौरान संबित पात्रा ने हिंसा के आरोप में गिरफ्तार किए गए जैकब विल्सन के घर से मिले पत्र को सबूत के तौर पर पेश किया है. उन्होंने कहा कि इस पत्र में कई ऐसी आपत्तिजन बातें लिखी गई हैं. इससे पता चलता है कि महाराष्ट्र में किस तरह से दलितों के नाम हिंसा फैलाने की साजिश रची गई थी. संबित पात्रा ने कहा कि राहुल गांधी को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस मामले पर जवाब देना चाहिए. 

बता दें कि पुलिस ने 6 जून को इस मामले में छापेमार कार्रवाई कर 5 लोगों को गिरफ्तार किया है. इसमें एक आरोपी रोना जैकब विल्सन को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया था.

गौरतलब है कि 31 दिसंबर 2017 को पुणे में यलगार परिषद का आयोजन किया गया था. इसके दूसरे दिन एक जनवरी को भीमा कारेगांव में हिंसा भड़क गई. महाराष्ट्र के पुणे में 200 साल पुराने युद्ध भीमा-कोरेगांव की बरसी को लेकर जातीय संघर्ष छिड़ गया था. धीरे धीरे इसकी आग पूरे राज्य में फैल गई थी. कई जगह जातीय हिंसक घटनाएं हुई थीं. इस जातीय हिंसा के लिए यलगार परिषद को भी जिम्मेदार ठहराया जा रहा है. इसमें नेताओं पर भड़काऊ भाषण देने का आरोप लगा है और इस मामले में जिग्नेश मेवानी और उमर खालिद पर भी केस दर्ज किया गया.

First published: 7 June 2018, 17:52 IST
 
अगली कहानी