Home » राजनीति » BMC Election Result 2017: Shivsena leads BJP second
 

BMC रिजल्ट: कांटे की टक्कर में शिवसेना अव्वल, BJP नंबर दो, निरुपम का इस्तीफ़ा

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 February 2017, 19:20 IST
(ट्विटर)

बृहन्मुंबई महानगरपालिका यानी बीएमसी के चुनाव नतीजों में शिवसेना सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. 227 सीटों के लिए हुए चुनाव में शिवसेना ने सबसे ज्यादा 84 सीटों पर कब्जा जमाया, जबकि बीजेपी ने उसे कांटे की टक्कर देते हुए 82 सीटों पर जीत दर्ज की. इस तरह बीएमसी में दोनों में से किसी को बहुमत नहीं मिला है.

25 साल में पहली बार शिवसेना और बीजेपी ने गठबंधन तोड़ते हुए बीएमसी का चुनाव अलग-अलग लड़ा था. बीएमसी में बहुमत का जादुई आंकड़ा 114 है, जिससे शिवसेना काफी दूर है. चुनाव में कांग्रेस को बड़ा नुकसान हुआ है. उसे केवल 31 सीटों पर जीत मिली, जबकि पिछले बार वह 52 सीटों पर जीती थी.  

BMC की सभी 227 सीटों का रिजल्ट घोषित

शिवसेना- 84 सीटें 

बीजेपी- 82 सीटें

कांग्रेस- 31 सीटें

एनसीपी- 09 सीटें

एमएनएस- 07 सीटें

अन्य- 14 सीटें

एमएनएस से खिसका मराठा वोट बैंक

2012 के बीएमसी चुनाव में बीजेपी-शिवसेना ने एक साथ चुनाव लड़ा था. शिवसेना को 75 और बीजेपी को 31 सीटें मिली थीं, जबकि 2007 में शिवसेना को 84 और बीजेपी को 28 सीटों पर जीत हासिल हुई थी.

इस बार के चुनाव में राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना को बड़ा झटका लगा है. एमएनएस को महज सात सीटें ही मिल सकीं, जबकि पिछले चुनाव में पार्टी को 28 सीटों पर जीत हासिल हुई थी. माना जा रहा है कि मराठा वोट के शिवसेना की तरफ खिसकने से उसे काफ़ी नुकसान हुआ है. 

इसके अलावा शरद पवार की एनसीपी भी चुनाव में कोई खास प्रदर्शन नहीं कर सकी है. एनसीपी ने बीएमसी की 9 सीटों पर जीत दर्ज की.

संजय निरुपम का इस्तीफ़ा

मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष संजय निरुपम को भी करारा झटका लगा है. पार्टी ने उनकी अगुवाई में चुनाव लड़ा था. निरुपम ने बीएमसी चुनाव में खराब प्रदर्शन के बाद पार्टी की हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए मुंबई क्षेत्रीय कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष के अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया है.

First published: 23 February 2017, 13:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी