Home » राजनीति » Can keep 300 people in jail for 2-3 months for peace: Ram Madhav
 

शांति के लिए 300 लोगों को 2-3 महीने के लिए भी जेल में रख सकते हैं : राम माधव

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 October 2019, 10:14 IST

कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के बाद अपनी पहली कश्मीर यात्रा के दौरान कहा कि सरकार राज्य में शांति और विकास सुनिश्चित करेगी भले ही 2 से 3 महीनों के लिए 200-300 लोगों को सलाखों के पीछे रखना पड़े. उन्होने कहा कि जम्मू कश्मीर में प्रत्येक नौकरी यहां के युवाओं को दी जाएगी. एक रिपोर्ट के अनुसार श्रीनगर में एक राजनीतिक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता ने यह भी कहा कि राज्य के कई नेता जिन्हें शेर-ए-कश्मीर इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस सेंटर (SKICC) में हिरासत में लिया गया था, एक संदेश भेजकर लोगों से हिंसा करने और बलिदान करने के लिए कह रहे थे.

माधव ने कहा इस क्षेत्र की शांति और विकास के रास्ते में आने वाले किसी को भी सख्ती से निपटा जाएगा. भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव श्रीनगर में पार्टी की युवा शाखा के एक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे. वर्तमान में हिरासत में रखे गए नेताओं की बात करते हुए माधव ने कहा “मैं पूछना चाहता हूं कि यहां हिंसा कौन कर रहा था? यह राजनीतिक लाभ के लिए चलाया जा रहा था.”

 

उन्होंने घाटी के राजनीतिक दलों से राजनीतिक रूप से मुद्दों को उठाने के लिए कहा. राम माधव ने कहा ''अगर आपको लगता है कि (दल) जम्मू-कश्मीर के लोगों का नौकरियों पर अधिकार होना चाहिए तो यह एक राजनीतिक मुद्दा है. इसे बढ़ाएं, हम इस पर आपके साथ हैं. लेकिन संदेश न भेजें कि बंदूक उठाएं. यह राजनीति नहीं है.

उन्होंने कहा “आप शांति को बाधित किए बिना राजनीति कर सकते हैं. लेकिन जेल के अंदर बैठे हुए कुछ राजनेता संदेश भेज रहे हैं कि बंदूक उठानी होगी और बलिदान करना होगा. मैं जम्मू-कश्मीर के लोगों को उन राजनेताओं को बताना चाहता हूं, आप पहले आओ और अपने आप को बलिदान करो. जो लोग शांति और विकास के बीच आते हैं, उनके लिए भारत में कई जेल हैं. राज्य पूरी तरह से हिंसा से दूर रहेगा और शांति की राह पर आगे बढ़ेगा, भले ही हमें 200-300 लोगों को 2-3 महीने तक सलाखों के पीछे रखना पड़े”.


हरियाणा की 90 और महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों लिए मतदान शुरू

First published: 21 October 2019, 10:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी