Home » राजनीति » General JJ Singh may fight for SAD against Amrinder Singh from Patiala seat
 

'पटियाला की जंग' पर बोले अमरिंदर- 'पहली बार एक 'जनरल' को 'कैप्टन' देगा शिकस्त'

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 January 2017, 15:32 IST
(फाइल फोटो)

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव का एलान होते ही जुबानी जंग का दौर भी शुरू हो गया है. पंजाब भी उन पांच राज्यों में से एक हैं जहां फरवरी में चुनाव होने हैं. राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अकाली दल पर हमला बोला है. 

पंजाब में अमरिंदर सिंह को कांग्रेस के चुनाव जीतने पर मुख्यमंत्री पद का प्रबल दावेदार माना जा रहा है. अकाली दल ने उनके खिलाफ पूर्व थल सेनाध्यक्ष जनरल जेजे सिंह को उतारने की रणनीति तैयार की है. अमरिंदर से जब इसको लेकर सवाल किया गया, तो उन्होंने अपनी हाजिर जवाबी दिखाई. 

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, "ऐसा पहली बार होगा कि कोई कैप्टन किसी जनरल को मात देगा." माना जा रहा है कि कैप्टन की पारंपरिक पटियाला सीट से शिरोमणि अकाली दल पूर्व सेनाध्यक्ष को उतारकर बड़ा दांव खेलने वाला है.

जनरल जेजे सिंह Vs कैप्टन अमरिंदर सिंह!

पंजाब में चुनाव के दौरान पटियाला विधानसभा सीट पर पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष कैप्टन अमरिंदर सिंह और रिटायर्ड जनरल जेजे सिंह का मुकाबला तय माना जा रहा है.

हाल ही में जनरल सिंह से जब इस संभावना पर सवाल पूछा गया, तो उन्होंने जवाब दिया था कि पीसीसी अध्यक्ष के गढ़ (पटियाला) मेें शिरोमणि अकाली दल उम्मीदवार के तौर पर वह अमरिंदर का मुकाबला करने के लिए तैयार हैं.

हालांकि इस सीट पर उनकी उम्मीदवारी की घोषणा अभी औपचारिक तौर पर नहीं हुई है लेकिन शिरोमणि अकाली दल के महासचिव प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने कहा है कि पार्टी अमरिंदर सिंह के खिलाफ एक जानी-मानी शख्सियत को उतारेगी.

जनरल जेजे सिंह 31 जनवरी 2005 से 30 सितंबर 2007 तक भारतीय थल सेनाध्यक्ष के रहे हैं. (फाइल फोटो)

'तीसरी पारी के लिए तैयार'

जनरल जेजे सिंह ने कहा, "बिल्कुल, मैं अपनी तीसरी पारी के लिए तैयार हूंं. मैंने सेना में सेवा दी है और अरुणाचल प्रदेश का राज्यपाल रह चुका हूं." 

पटियाला के साथ अपने जुड़ाव का जिक्र करते हुए पूर्व सेनाध्यक्ष सिंह ने कहा कि बंटवारे के बाद उनका परिवार यहां आ गया था और सालों से यही उनका घर रहा है. 

जनरल सिंह ने कहा, "यह वह वक्त है जब मैं पटियाला को सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक तौर पर कुछ वापस दे सकता हूं." जनरल जेजे सिंह जब दो साल के थे, तभी उनका परिवार पाकिस्तान के रावलपिंडी से पटियाला आ गया था.

First published: 6 January 2017, 15:32 IST
 
अगली कहानी