Home » राजनीति » Congress asking question on New Army chief appointment
 

नये आर्मी चीफ की नियुक्ति पर कांग्रेस ने उठाए सवाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 December 2016, 12:00 IST
(फाइल फोटो)

मोदी सरकार द्वारा लेफ्टिनेंट जनरल विपिन रावत को अगला सेना अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर कांग्रेस ने सवाल खड़ा कर दिया है.

कांग्रेस ने सरकार से सवाल किया है कि क्यों लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन रावत को दो वरिष्ठ अधिकारियों को नजरअंदाज कर सेना प्रमुख बनाया गया है.

हालांकि आउट ऑफ टर्म प्रमोशन का यह पहला मामला नहीं है. इससे पूर्व कांग्रेस की सरकार में इस तरह की नियुक्ति हो चुकी है.

इस मामले में कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने शनिवार को ही ट्वीट करके कहा, "थलसेना प्रमुख की नियुक्ति पर वरिष्ठता का सम्मान क्यों नहीं किया जाता? लेफ्टिनेंट जनरल प्रवीण बख्शी और लेफ्टिनेंट जनरल मोहम्मद अली हारीज को सैन्य प्रमुख क्यों नहीं बनाया गया?"

मनीष तिवारी का कहना है हमारी सेना का चरित्र पूरी दुनिया के सामने है कि यहां वरिष्ठता को ही प्रमुखता दी जाती है.

उनके मुताबिक बात जनरल रावत की नियुक्ति को लेकर नहीं है, लेकिन सवाल यह उठता है कि जनरल बख्शी को और अन्य लोगों की वरिष्ठता का ध्यान क्यों नहीं रखा गया? इस सवाल का जवाब सरकार को देना चाहिए.

तिवारी ने एक अन्य ट्वीट में पूछा, "क्यों तीसरे सबसे वरिष्ठ अधिकारी लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन रावत को अन्य दो के मुकाबले तरजीह दी गई?"

हालांकि दूसरे ट्वीट के बाद मनिष तिवारी ने अपनी गलती सुधारते हुए कहा, "माफ कीजिएगा, जनरल रावत तीसरे सबसे वरिष्ठ नहीं बल्कि चौथे सबसे वरिष्ठ हैं. यहां तक कि केंद्रीय कमान के सैन्य कमांडर जनरल बीएस नेगी भी उनसे वरिष्ठ हैं."

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने जनरल दलबीर सिंह सुहाग की जगह लेने वाले नये सेना प्रमुख के तौर पर लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन रावत के नाम की घोषणा की है. जनरल दलबीर सिंह सुहाग 31 दिसंबर को सेवानिवृत हो जाएंगे.

First published: 18 December 2016, 12:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी