Home » राजनीति » Congress Spokesperson Jaiveer Shergill receives a cease & desist notice from Anil Ambani led Reliance Infrastructure
 

राफेल पर बयानबाजी के लिए अनिल अंबानी ने कांग्रेस प्रवक्ता के नाम भेजा नोटिस

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 August 2018, 11:15 IST

राफेल मामले में गलत बयानबाजी को रोकने के लिए कांग्रेस प्रवक्ता जयवीर शेरगिल को अनिल अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर, रिलायंस डिफेन्स & रिलायंस ऐरोस्ट्रक्चर की ओर से एक नोटिस मिला है. इस नोटिस में अनिल अंबानी की कंपनी ने  कांग्रेस जयवीर शेरगिल को लीगल नोटिस भेजकर चुप होने की चेतावनी दी है. अनिल अंबानी के स्वामित्व वाली कंपनी का कहना है कि कांग्रेस प्रवक्ता वही बोलें जिसका उनके पास सबूत हो. अन्यथा उन्हें इसका हर्जाना भुगतने के लिए तैयार रहना चाहिए.

इससे पहले रिलायंस समूह के चेयरमैन अनिल अंबानी ने फ्रांस के साथ राफेल लड़ाकू विमानों के सौदे पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को एक और पत्र लिखा था. पत्र में कहा गया था कि कुछ प्रतिद्वंदियों द्वारा कांग्रेस पार्टी को 'गलत, भ्रामक और भटकाने वाली जानकारियां दी जा रही हैं.'

अंबानी ने राहुल गांधी को लिखे पत्र में कहा था कि भारत जो 36 राफेल जेट विमान फ्रांस से खरीद रहा है, उन विमानों के एक रुपये मूल्य के एक भी कलपुर्जे का विनिर्माण उनके समूह द्वारा नहीं किया जाएगा. इससे पहले राहुल गांधी ने आरोप लगया था कि सरकार ने इस सौदे में 'एक उद्योगपति को फायदा पहुंचाने के लिए' नियमों में बदलाव किया है.

कंपनी ने अंबानी के पत्र के हवाले से कहा है कि रिलायंस को इस सौदे से जो हजारों करोड़ रुपये का फायदा होने की बात की जा रही है वह कुछ निहित स्वार्थी तत्वों द्वारा प्रचारित कोरी कल्पना मात्र है.

अंबानी का कहना है कि कंपनी ने भारत सरकार के साथ कोई अनुबंध नहीं किया है.' पत्र में कहा गया है कि लड़ाकू जेट की आपूर्ति करने वाली फ्रांसीसी कंपनी डसॉल्ट ने रिलायंस समूह से करार अनुबंध के तहत अपनी ऑफसेट अनिवार्यता को पूरा करने के लिए किया है.

ये भी पढ़ें : महाराष्ट्र के अलीबाग में स्थित भगोड़े नीरव मोदी का अवैध बंगला होगा ध्वस्त

First published: 22 August 2018, 11:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी