Home » राजनीति » Cows are safer than women in india says Shiv Sena chief Uddhav Thackeray, attcks bjp and modi
 

उद्धव ठाकरे ने सामना में कहा- भारत में गायें सुरक्षित, लेकिन महिलाएं नहीं

न्यूज एजेंसी | Updated on: 23 July 2018, 18:58 IST

शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने सोमवार को कहा कि गाय की रक्षा के नाम पर भारत अब विश्व में महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित देश बन गया है और सभी को इसके लिए शर्मिदा होना चाहिए.

उद्धव ने 27 जुलाई को अपने 58वें जन्मदिन से पहले पार्टी के मुखपत्र 'सामना' और 'दोपहर का सामना' को दिए एक विस्तृत साक्षात्कार में कहा, "जी हां, बिल्कुल, हमें हमारी गाय माता की रक्षा करनी चाहिए, लेकिन मेरी मां का क्या? यह हिंदुत्व नहीं है." सोमवार को उनके साक्षात्कार का पहला हिस्सा प्रकाशित हुआ है.

ठाकरे ने कहा कि पिछले 25 वर्षो से शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सहयोगी हैं, क्योंकि दोनों हिंदुत्व की विचारधारा, हिंदुओं के दर्जे, राष्ट्रीय हित और देश की सुरक्षा समेत अन्य मुद्दों पर समान राय रखते हैं. ठाकरे ने आग्रह किया, "लेकिन हिंदुत्व क्या है, मैं मेरे पिता शिवसेना के संस्थापक दिवंगत बालासाहेब ठाकरे से अक्सर यह पूछता था. उनका जवाब होता था कि राष्ट्रीयता हमारा हिंदुत्व है. हम नहीं चाहते कि हिंदू केवल मंदिर में जाकर घंटियां बजाएं, चोटी रखें और जनेऊ धारण करें. बालासाहेब के हिंदुत्व के विचारों को अब प्रचारित और लागू किया जाना चाहिए."

लोकसभा में पिछले सप्ताह भाजपा के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के दौरान शिवसेना ने सदन में अनुपस्थित रहने का निर्णय लिया था. उन्होंने कहा कि अविश्वास प्रस्ताव सत्तारूढ़ दल द्वारा लोगों के साथ किए गए धोखे का परिणाम है. ठाकरे ने कहा, "सामान्य तौर पर विपक्ष अविश्वास प्रस्ताव लाता है, लेकिन यहां पहल तेलुगू देशम पार्टी ने की, जो कि सत्तारूढ़ पार्टी की सहयोगी थी. उसका विश्वास सरकार से उठ गया था."

सेना के रुख पर सफाई देते हुए उन्होंने स्पष्ट किया कि कोई भी हमारे कंधे पर रखकर बंदूक नहीं चला सकता और न ही शिवसेना किसी और के कंधे पर बंदूक रखकर चलाएगी.

First published: 23 July 2018, 18:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी